उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
प्रशांत कनौजिया
प्रशांत कनौजिया|Twitter
देश

योगी आदित्यनाथ के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल करने वाले पत्रकार प्रशांत कनौजिया को SC ने तुरंत छोड़ दिया 

प्रशांत कनौजिया ने कहा था “मुझे फंसाया जा रहा है”

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

सुप्रीम कोर्ट ने आज स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें तत्कालीन रिहा कर दिया। प्रशांत कनौजिया पर आरोप है कि उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए सोशल मीडिया में 'अपमानजनक वीडियो' पोस्ट किया। जिसपर कार्यवाई करते हुए उन्हें उत्तर प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

इस मामले पर सुनवाई करते हुए आज सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि "सबकी राय अलग-अलग हो सकती है, प्रशांत को इस तरह के ट्वीट पोस्ट नहीं करने चाहिए थे , लेकिन इस आधार पर उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाना चाहिए था।"

सुप्रीम कोर्ट ने अपनी सुनवाई में कहा, नागरिक की स्वतंत्रता पवित्र है और इससे समझौता नहीं किया जा सकता है , इसे संविधान द्वारा सुनिश्चित किया गया है और इसका उल्लंघन नहीं किया जा सकता है। 

सुप्रीम कोर्ट

इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से पेश हुए वकिल ने कहा कि "मुख्यमंत्री से जुड़े ट्वीट काफी गंभीर हैं। इस फैसले से समाज में ऐसा संदेश जाना चाहिए कि भविष्य में इस तरह की बातें ना बोली जाएं।”

इसपर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि “हम इस ट्वीट पर टिप्पणी नहीं कर रहे। नाहीं इसका समर्थन कर रहे। प्रशांत कनौजिया की रिहाई का मतलब उनके ट्वीट का समर्थन नहीं हो सकता है। हम बस उन्हें अभी रिहा कर रहे हैं। इस तरह के मामले में 10 दिन से ज्यादा जेल में रहना ठीक नहीं है। आप उनपर जांच जारी रखें, कार्यवाई करें।”

सुप्रीम कोर्ट

राहुल गांधी का ट्वीट

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने इस मामले में ट्वीट करते हुए कहा था कि "अगर हर उस पत्रकार को जेल में डाला जाए जो झूठी रिपोर्ट करते हैं या आरएसएस/भाजपा प्रायोजित अफवाह पर मेरे खिलाफ फर्जी और दुष्प्रचार वाली खबरें चलाते हैं तो अधिकतर अखबारों या समाचार चैनलों में कर्मचारियों की भारी कमी हो जाएगी।

क्या है मामला

स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत ने हेमा नाम की एक महिला का वीडियो अपने ट्विटर पर शेयर करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए एक कमेंट लिखा था। जिसने इस पूरे विवाद को जन्म दिया। इस वीडियो में महिला दांवा करते हुए बोल रही थी कि योगी आदित्यनाथ के साथ वो बीते एक साल से वीडियो कॉल के जरिए जुड़ी हुई हैं। योगी आदित्यनाथ उनका प्यार हैं। लेकिन सार्वजनिक तौर पर वो मुझसे बात नहीं करते। जिसकी वजह से मैं तनाव में हूं।