उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
वायनाड में राहुल गांधी 
वायनाड में राहुल गांधी |Twitter
देश

वायनाड में बोले राहुल, “हम मोदी जी के नफरत का जवाब सच्चाई, प्रेम और स्नेह से देंगे”

वायनाड में राहुल गांधी 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

लोकसभा चुनाव में वायनाड की जनता ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को करीब चार लाख से भी ज्यादा मतों से जीत दिलाई थी। वायनाड से मिली जीत के बाद राहुल आज वहां की जनता को धन्यवाद देने पहुंचे थे। राहुल के रोड शो में उनकी जबरदस्त फैन फोल्लोविंग दिखी। सैकड़ों जनता राहुल के स्वागत में खड़ी थी। लेकिन राहुल यहां अपना चुनावी एजेंडा चला रहे थे। राहुल बार बार पीएम मोदी और भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगा रहे थे।

देश को बांटना चाहते हैं मोदी

राहुल गांधी ने वायनाड का दौरा किया और कई लोगों से बातचीत की।

राहुल ने वायनाड में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “मोदी ने झूठ बोलकर और नफरत फैलाकर चुनाव जीता। लेकिन हम उन्हें इसका जवाब सच्चाई, प्रेम और स्नेह से देंगे। नरेंद्र मोदी देश को बांटना चाहते हैं। जहर फैलाना चाहते है। उनमें गुस्सा भरा है, वो गुस्से और नफरत से देश के लोगों को अलग करना चाहते हैं। लेकिन मेरे होते हुए ऐसा नहीं होगा। मैं जरूर कड़ा शब्द इस्तेमाल कर रहा हूं, लेकिन ते शब्द सच हैं।

राहुल गाँधी

पुराने रंग में राहुल

लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद भी राहुल गांधी का पीएम मोदी के प्रति आक्रमक रवैया बरकरार था। राहुल पीएम मोदी के खिलाफ ठीक उसी तरह की बयानबाजी करते नज़र आ रहे थे जैसे वे लोकसभा चुनाव के दौरान किया करते थे। लेकिन चुनाव नतीजों के बाद राहुल गांधी पहली बार मोदी सरकार को फिर से घेरते हुए नज़र आए। राहुल ने पीएम को धोखा देने का आरोप लगाया।

राहुल ने वायनाड की जनता से कहा, "वायनाड में सभी लोगों के लिए मेरे दरवाजे खुले हैं और यहां के लोगों की समस्याओं को हल करना मेरी जिम्मेदारी है।"

राहुल गाँधी को कलपेट्टा में उनका रोडशो देखने आए स्थानीय लोगों के साथ बातचीत करते हुए भी देखा गया। राहुल के साथ कांग्रेस प्रदेश पार्टी अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन, विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला और एआईसीसी के महासचिव (संगठन) के.सी. वेणुगोपाल मौजूद थे।

पार्टी की जिम्मेवारी ले राहुल

एक तरह जहां राहुल गांधी जीत के बाद वायनाड की जनता धन्यवाद देने पहुंचे थे। वही दूसरी तरह पार्टी में उनके अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाली खबरे लगातार नेताओं के बीच बहस का कारन बनी हुई है। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता एम वीरप्पा मोइली ने राहुल गांधी से अपील करते हुए कहा कि "राहुल अपनी जिम्मेदारी संभालें और प्रदेश इकाइयों में पैदा हो रहे असंतोष को खत्म करें। राहुल के अलावा अभी पार्टी के पास दूसरा विकल्प नहीं है। वह विकल्प लाए बिना अध्यक्ष पद नहीं छोड़ सकते।