उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
RBI
RBI|Google
देश

RBI ने किया अपना काम रेपो रेट में 0.25% की कटौती, अब बैंकों की बारी 

RBI की मेहरबानी, लोन हुआ सस्ता। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भारतीय रिजर्व बैंक ने आज यानि गुरुवार को वर्तमान वित्तवर्ष की दूसरी द्विमासिक मौद्रिक समीक्षा की बैठक की। बैठक के बाद RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने मीडिया से बात करते हुए जानकारी दी और कहा कि RBI वाणिज्यिक बैंकों के लिए प्रमुख ब्याज दर में 25 आधार अंकों (0.25%) की कटौती की। जिसके बाद प्रमुख ब्याज दर यानि रेपो रेट अब 5.75 फीसदी हो गई है।

इससे पहले भी रिजर्व बैंक लगातार दो बार रेपो रेट में 25-25 बेसिस प्वाइंट की कटौती कर चुका है।

RBI

RBI मॉनेटरी पॉलिसी की मुख्य बातें

  • RBI ने रेपो रेट में 25 आधार अंकों की कटौती की।
  • रेपो रेट अब 6% से घटकर 5.75% हो गई है।
  • रेपो रेट और बैंक दर को क्रमशः 5.50 और 6.0 प्रतिशत किया गया है।
  • जीडीपी वृद्धि दर 7.2% से घटाकर 7.00% प्रतिशत किया गया है।
  • 2019-20 की पहली छमाही में मुद्रास्फीति में 3.0% -3.1% और वर्ष की दूसरी छमाही में 3.4% -3.7% रहने का अनुमान है।
  • RTGS और NIFT की लेनदेन पर लगने वाले शुल्क को भी RBI ने समाप्त कर दिया है।
  • RBI ने CRR 4%- में कोई कटौती नहीं की गई है।

ब्याज दरों में कटौती के बाद EMI पर पड़ेगा असर

  • RBI ने आज रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की है। जिसके बाद बैंक भी व्याज दर में 0.25% की कटौती करेगा।
  • रेपो रेट में कटौती से लोन सस्ता होने की संभावना लगाई जा रही है।
  • रेपो रेट में कटौती का असर होम लोन, कार लोन और बाकी तरह के लोन पर पड़ेगा और ग्राहकों को ईएमआई में भी सुविधा मिलेगी।

RBI ने अनुसार वर्तमान वर्ष में भारत की जीडीपी वृद्धि दर को 7.2% से घटाकर 7.00% प्रतिशत किया गया है। इसका मतलब है कि भारत अब तेजी से बढ़ने वाली इकोनॉमी का दर्जा खो चुका है। 31 मार्च 2019 को भारत की जीडीपी में 5. 8 फीसदी की बढ़ोतरी आंकी गई थी। लेकिन ताजा आए परिणाम चौंकने वाले हैं।

RBI की अगली बैठक 5 या 7 अगस्त 2019 को होगी।