उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Richa Singh One Day DCP
Richa Singh One Day DCP|Google
देश

नायक के अनिल कपूर ही नहीं बल्कि इस बच्ची को रियल लाइफ में मिला एक दिन की DCP बनने का मौका

12 वीं परीक्षा में टॉप करने वाली ऋचा सिंह को मिला उनके जीवन का सबसे खूबसूरत तोहफा  

Puja Kumari

Puja Kumari

कई बार ऐसा होता है कि फिल्मों में दिखाई गई कहानी असल जिंदगी में भी घट जाती है, हाल ही में एक ऐसा उदाहरण हमारे समाज में देखने को मिला। दरअसल हम बात कर रहे हैं फिल्म 'नायक' की जिसमें अनिल कपूर (Anil Kapoor) को एक दिन के लिए सीएम बनाया गया था और कुछ ऐसा ही एक 16 साल की लड़की के साथ हुआ। हर मां बाप का सपना होता है कि उसका बच्चा पढ़ लिखकर परीक्षा में अच्छे नंबरों से पास हो और भविष्य में खुब नाम कमाए, और उन लोगों का ये सपना जल्द पूरा भी होता है, जिनके बच्चे होनहार होते हैं।

आपको याद होगा कि अभी कुछ समय पहले लगातार कई सारे रिजल्ट सामने आए, जिसमें काफी बच्चे अच्छे नंबरों से पास हुए, बोर्ड चाहे कोई भी कोई भी हो हर जगह लड़कियों ने ही अपना परचम लहराया। इस दौरान आईएससी बोर्ड (ISC Board Result) के रिजल्ट में ऋचा सिंह (Richa singh) ने 12 वीं कक्षा में 99.25 प्रतिशत नंबर लाकर खुद के साथ अपने पैरेंट्स का नाम भी रौशन किया। ऋचा का नाम आईएससी बोर्ड (ISC Board Result) के टॉपर लिस्ट में चौथे नंबर पर है। इसके अलावा इतने कम उम्र में इनको जो जिम्मेदारी मिली वो आजतक शायद ही किसी छात्रा को मिली होगी।

पुलिस विभाग में है पिता

हुआ यूं कि कोलकत्ता की रहने वाली ऋचा सिंह (Richa singh) को 8 मई से पूरे एक दिन के लिए शहर के DCP का प्रभार सौंप दिया गया। जी हां ये सुनने में तो बिल्कुल फिल्मी लग रहा होगा पर यही सच है, दरअसल ऋचा ने अपने इस एक दिन के कार्यकाल को बखूबी संभाला और अगले दिन 12 बजे तक वो उस कुर्सी पर बैठी रही। ऋचा ने अपने 24 घंटे के कार्यकाल के दौरान अपने पिता को घर जल्दी आने का आदेश दिया। दरअसल ऋचा के पिता खुद भी पुलिस विभाग के (South Eastern Division) में प्रभारी अधिकारी हैं और उनको अपने पिता से शिकायत रहती थी कि वो रात देर से आते हैं, जिसकी वजह से पद संभालते ही उन्होने अपने पिता को इसकी हिदायत दे दी।

Richa Singh One Day DCP
Richa Singh One Day DCP
Google

ऋचा से मिला सफलता का मंत्र

बात करें ऋचा के स्कूल की तो उन्होंने जीडी बिड़ला सेंटर फॉर एजुकेशन से अपनी 12 वीं की पढ़ाई पूरी की है, उनका सपना है कि वो आगे जाकर यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा क्वालिफाई करें और अपने पिता की तरह खुब नाम कमाए। ऋचा ने बताया कि अगर कोई मेहनत करता है तो निश्चित है कि सफलता उसे मिलेगी, हां ये अलग बात है कि इस दौरान उसे कई तरह की कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है पर कभी हार नहीं मानना चाहिए, निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए।