उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
SUV-Truck Accident
SUV-Truck Accident|Google
देश

छत्तीसगढ़: ट्रक-एसयूवी में टक्कर, एक ही परिवार के सात लोगों की मौत   

छत्तीसगढ़: कोंडागांव के दूधगांव में SUV और ट्रक की भिड़ंत के बाद, एक ही परिवार के लोग लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

कोंडगांव: छत्तीसगढ़ के कोंडगांव जिले में शुक्रवार की रात एक एसयूवी के एक ट्रक से टकरा जाने के कारण उसमें सवार तीन महिलाओं और दो लड़कियों सहित सात लोगों की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गये। एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि कोंडगांव थाना क्षेत्र अन्तर्गत दूधगांव गांव के निकट रायपुर-जगदलपुर राजमार्ग पर रात करीब नौ बजे यह दुर्घटना हुई।

नेशनल हाइवे 30 दूधगांव गांव के करीब SUV (CG 07 T 4099) और ट्रक (MH 48 N 5389) की भिड़ंत होने से SUV में बैठे एक ही परिवार के 7 लोगों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। हादसे में घायल को स्थानी सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह घटना रत करीब 9 बजे कोंडगांव से 6 किलोमीटर की दुरी पर दूधगांव गांव के निकट घटी थी

SUV और ट्रक में टक्कर इतनी तेज हुई की मौके पर ही तीन लोगों को मौत हो गए, अन्य चार लोगों की मौत बचाव कार्य के दौरान हुई। इलाज के दौरान चार अन्य की स्थानीय अस्पताल में मौत हो गयी। दो घायलों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। बता दें कि SUV में 9 लोग सवार थे।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि हादसे के बाद घटनास्थल से फरार हो गए ट्र्रक चालक का पता लगाने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं। घटनस्थल पर मौजूद चश्मदीदों के मुताबिक के मुताबिक, शाम करीब 8 बजे दुधगांव के पास हाइवे में तेज रफ़्तार से आगे बढ़ते हुए ट्रक ने फरसगांव गांव की तरफ से आ रही SUV को सामने से जोर दार टक्कर मार दी। टक्कर खाने के बाद SUV करीब 8 मीटर तक पीछे चली गई। एक्सीडेंट के बाद ट्रक ड्राइवर ट्रक छोड़ कर भाग गया। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस और हॉस्पिटल में फ़ोन कर के घटना की जानकारी दी।

एक परिवार के 7 लोग मरे

SUV में सवार ड्राइवर सुन्दर, बसन्ती बघेल, ललिता, छाया, लाखेश्वरी, खुशबू समेत दो अन्य लोगों की मौत हो गई। ये सभी एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं। घायल परिवार छत्तीसगढ़ के बिलासपुर का रहने वाला है, जो फरसगांव से वापस बिलासपुर लौट रहा था। घटना के बाद हाईवे में लम्बा जाम गया। जिसे पुलिस ने पहुंच कर ठीक कराया। घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को प्रशासन की तरफ से 25 हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा और घायलों का सरकारी अस्पताल में मुफ्त इलाज किया जायेगा।