उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारा गया ,
जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारा गया ,|IANS
देश

मुदासिर खान की मौत के साथ खत्म हुआ भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव का कारण 

CRPF मुठभेड़ के दौरान जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammad) का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारे गए तीन आतंकवादियों में से एक है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

श्रीनगर: पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड 23 साल का मुदस्सिर अहमद खान उर्फ़ मोहम्मद भाई सीमा सुरक्षा बल के जवानों द्वारा एक एनकाउंटर में मारा गया है। मुदस्सिर अहमद खान 2017 से आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद से जुड़ा था । उसने स्नातक की शिक्षा ली थी और वह पेशे से इलेक्ट्रीशियन था। शुरुवाती दिनों में मुदस्सिर अहमद जैश ए मोहम्मद का एक वर्कर हुआ करता था , फिर एक्टिविटी और देखतर ही देखते एक खूंखार आतंवादी बन गया। CRPF के काफिले पर हमले के लिए विस्फोट सामान पहुंचाने वाला मुदस्सिर अहमद आज मर चुका है और उसकी मौत के साथ पुलवामा हमले के बाद भारत पाकिस्तान के बीच शुरू हुए तनाव का कारण भी खत्म हो चुका है।

दरअसल , जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के दो आतंकवादियों में से सोमवार को एक की पहचान हुई है। वह पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के प्रमुख साजिशकर्ताओं में से एक के रूप में हुई है।

आतंकी की मौत के बाद पुलिस ने कहा कि त्राल क्षेत्र के मिदूरा गांव का मुदासिर खान उर्फ मुहम्मद भाई पिंगलिश गांव में मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकवादियों में से एक है। दूसरे आतंकवादी के बारे में कहा गया कि उसका पाकिस्तानी कोड नाम खालिद है।

जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारा गया ,
जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारा गया ,
Google

मुदासिर खान को उन लोगों में से एक बताया गया है जिन्होंने 14 फरवरी को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) काफिले पर हमले की साजिश रची थी, जिसके बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव काफी बढ़ गया। तो क्या अब भारत पाक के बीच का तनाव कम हो सकता है ?

पुलिस के एक बयान में कहा गया, "अब तक की जांच में मुख्य रूप से खुलासा हुआ है कि मुदासिर पुलवामा हमले के प्रमुख साजिशकर्ताओं में से एक था।"

उन्होंने कहा, "मुठभेड़ की जगह से बरामद की गई सामग्री के आधार पर पता चला है कि मारा गया दूसरा आतंकवादी एक पाकिस्तानी नागरिक था जिसका कोड नाम खालिद था।" सुरक्षाबलों द्वारा इलाके में तलाशी जारी है।

जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारा गया ,
जैश-ए-मोहम्मद का आतंकवादी मुदासिर अहमद उर्फ ‘मोहम्मद भाई’ मारा गया ,
Google

पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार, मारे गए दोनों आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए थे और सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले और नागरिकों पर अत्याचार सहित कई अपराधों में वांछित थे।

मुदासिर खान के परिवार ने उसके शव की शिनाख्त की। जिस घर में आतंकवादी छिपे हुए थे, सुरक्षाबलों के अभियान में वह घर पूरी तरह से नष्ट हो गया।

सेना ने कहा कि तीन आतंकवादी मारे गए हैं। हालांकि, पुलिस ने अभी तक सिर्फ दो शव बरामद किए हैं। गौरतलब है कि 14 फरवरी को सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी जेईएम ने ली थी।