उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Navy chief Admiral Sunil Lanba
Navy chief Admiral Sunil Lanba|IANS
देश

Operation Balakot: नौसेना प्रमुख ने दी चेतावनी, क्या संभल पायेगा देश ?

नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने मंगलवार को चेतावनी दी कि आतंकवादियों को समुद्र के रास्ते हमला करने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

ऑपरेशन बालाकोट के बाद देश में जिस तरह राजनीतिक विचारों में अस्थिरता और निचले स्तर की बयानबाजी का माहौल बन रहा है, उससे भविष्य के दुष्परिणाम का अंदाजा लगाया जा सकता है। जिस तरह बड़े राजनीतिक दलों के ऊंचे पद पर बैठे नेता, राजनीतिक महत्वकांक्षा के लिए देश के वीर सैनिकों के शौर्य पर प्रश्नचिन्ह लगा रहा है, उससे उनकी निचता का आंकलन किया जा सकता है।

भारतीय एयरफोर्स द्वारा ऑपरेशन बालाकोट को सफल अंजाम देने के बाद इन नेताओं ने जिस तरह सेना के पराक्रम पर सवाल उठाया, वो पूरी तरह देशद्रोह पूर्ण था। खैर, हमारी सेना इन राजनेताओं की ओछे विचारों से भलीभांति अवगत थी इसलिए सेना से बिना देरी किये सामने आकर, सारे सवालों पर पूर्णविराम लगा दिया। भारतीय वायु सेना के चीफ मार्शल ने कहा सेना गिनती नहीं करती, हमें जो लक्ष्य दिया जाता है, हम वे हिट करते हैं, गिनती करना सरकार का काम है।

इंडियन एयर चीफ के बाद अब नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने चेतावनी दी है। उन्होंने कहा देश आतंकवाद से लड़ रहा है, आतंकवादियों को समुद्र के रास्ते हमला करने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है। एडमिरल लाम्बा ने बिना नाम लिए पाकिस्तान पर आतंकवादियों को बढ़ावा देने को लेकर हमला किया। पाकिस्तान ने पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकवादी हमले को अंजाम दिया था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

पुलवामा हमले को लेकर भी हमारी मीडिया दो तरह की बातें उठी हैं ,पहला जिसे पूरी दुनिया भी सच मानती है - पुलवामा आतंकी हमले में जैश का हाथ है और इस हमले को अंजाम देना वाला आतंकी मौलाना मसूद अजहर है, जिसके सबूत भी पाकिस्तान को दे दिए गए हैं और दूसरा, जिसे सिर्फ कांग्रेस और प्रधानमंत्री मोदी की भाषा में महामिलावटी गठबंधन के नेता सच मानते हैं - पुलवामा हमले में बीजेपी का हाथ है, जिसके सबूत के तौर पर सोशल मीडिया में एक ऑडियो टेप भी वायरल हो रहा है। जिसमें बीजेपी अध्यक्ष अमित और गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस हमले की कथित तौर पर प्लानिंग कर रहे हैं।

एक तरफ जहां देश सीमा पर आतंकवाद से लड़ रहा है, वहीं देश के अंदर ये खादी वर्दी वाले, आतंकियों के मनोबल को चार चाँद लगाए बैठ हैं। सेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि "भारत में मुंबई हमले जैसी घटना फिर से दोहराई जा सकती है। पुलवामा हमले में हुई हिंसा उन आतंकवादियों द्वारा की गई थी, जिन्हें उस देश का समर्थन हासिल है, जो भारत को अस्थिर करना चाहता है। हमारे पास रिपोर्ट है कि आतंकवादियों को समुद्री रास्ते सहित अलग-अलग तरीके से हमला करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।"

अब इस परिस्थिति में भी देश के राजनीतिक दल, एक साथ होते नजर नहीं आते। सत्ता कि खिचड़ी इन्हें इतनी पसंद हैं, की ये राजनेता देश पर मर मिटने वालों को भी कटघरे में खड़ा कर सकते हैं। जिस तरह दुनिया में आतंकवाद तेजी से बढ़ रहा है, अगर भारत की सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया गया तो भविष्य में आतंकवाद न सिर्फ भारत बल्कि वैश्विक समस्या बन सकता है।"