उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
भारतीय वायुसेना (आईएएफ) प्रमुख बी.एस.धनोआ
भारतीय वायुसेना (आईएएफ) प्रमुख बी.एस.धनोआ |ians
देश

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की एयरफोर्स में दोबारा वापसी पर बोले एयर फोर्स चीफ, कहीं 10 बड़ी बातें

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) प्रमुख बी.एस.धनोआ ने सोमवार को कहा कि वायुसेना हताहतों की संख्या नहीं गिनती, हवाई हमला लक्ष्य को निशाना बनाने के लिए था।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

26 फ़रवरी को जब भारतीय वायु सेना ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला लिया तो पूरा देश, सेना और केंद्र सरकार के साथ खड़ा था, लेकिन अब यह मामला एक सवाल पर आकर अटक गया है। ऑपरेशन बालाकोट के बाद सेना के सामने एक बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि इस पूरी कार्यवाई में कितने आतंकी मारे गए हैं ? पाकिस्तान को इस एयर स्ट्राइक के बाद कितना नुकसान हुआ है ? बीजेपी नेता अमित शाह, एस एस आहलूवालिया ने जब मारे गए आतंकियों की गिनती बताई तो कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू उसी में उलझ गए। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने तो सेना से एयर स्ट्राइक के सबूत तक मांग लिया। अब सेना के सामने समस्या है, कि वे घर के दुश्मनों को जवाब दे या बहार के। बहरहाल सेना ने जवाब दे दिया,एयर फोर्स चीफ बीएस धनोआ ने साफ कहा है कि वायुसेना का मकसद सिर्फ लक्ष्य पर निशाना साधना होता है, वह मरने वालों की संख्या गिनने का काम नहीं करती है।

एयर फोर्स चीफ बीएस धनोआ ने कहीं प्रमुख बातें

  1. वायु सेना प्रमुख ने मीडिया से कहा, "भारतीय वायुसेना हताहतों पर स्पष्टीकरण देने की स्थिति में नहीं है। सरकार इसका स्पष्टीकरण देगी। हम हताहतों की संख्या नहीं गिनते। हम यह नहीं गिनते कि कितने लोग मारे गए हैं। यह गणना करते हैं कि हमें किस लक्ष्य को निशाना बनाना है या नहीं। हम अपने लक्ष्य पर निशाना साधते हैं। वायुसेना हताहतों की संख्या नहीं गिनती। सरकार ऐसा करती है।"
  2. धनोआ ने कहा, "लक्ष्य के बारे में विदेश सचिव ने अपने बयान में विस्तार से बता दिया है। अगर हम किसी लक्ष्य पर निशाना साधने की योजना बनाते हैं, तो हम उसे निशाना बनाते हैं, वरना उन्होंने (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने) जवाब क्यों दिया होता। अगर हमने जंगल में बम गिराए होते, तो वह क्यों जवाब देते..?"
  3. केंद्रीय मंत्री एस.एस.अहलूवालिया ने कहा था कि बालाकोट हमला एक संदेश देने के लिए था कि भारत शत्रु क्षेत्र के अंदर तक जाकर हमले की क्षमता रखता है और यह किसी को मारने के लिए नहीं था।
  4. धनोआ ने कहा कि बम से नुकसान का आकलन एक अलग पहलू है और आईएएफ के लिए हताहतों की पुष्टि करना मुश्किल है।
  5. उन्होंने नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय क्षेत्र में घुसे पाकिस्तानी वायुसेना के लड़ाकू विमानों से मुकाबले के लिए पुराने मिग-21 बाइसन का इस्तेमाल करने का बचाव किया।
  6. उन्होंने कहा, "मिग-21 बाइसन एक सक्षम विमान है, इसे अपग्रेड कर दिया गया है, इसका रडार बेहतर है। इसमें हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें और बेहतर हथियार प्रणाली है।"
  7. वायुसेना प्रमुख ने यह भी कहा कि राफेल सितंबर तक भारत में आ जाना चाहिए।
  8. अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में भारत के पीएएफ के एफ-16 को मार गिराए जाने के दावे वाली विभिन्न रपटों की सत्यता पर धनोआ ने पुष्टि की कि अमेरिकी जेट का इस्तेमाल किया गया था।
  9. विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के अपने दस्ते में वापसी के बारे में उन्होंने कहा कि यह उनके मेडिकल स्थिति पर निर्भर करेगा कि वह कितने जल्दी स्वस्थ होते हैं।
  10. धनोआ ने कहा, "अभिनंदन का फिर से विमान उड़ाना उनके चिकित्सा फिटनेस पर निर्भर है। अगर वह लड़ाकू विमान उड़ाने के लिए फिट पाए गए तो वह उसी यूनिट में वापस जाएंगे।"

--आईएएनएस