Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
राहुल और पर्रिकर के मुलाकात से गरमाई राजनीती
राहुल और पर्रिकर के मुलाकात से गरमाई राजनीती|google
देश

राहुल और पर्रिकर की मुलाकात से गरमाई राजनीति, गोवा के मंत्री बोले नेताओं को ऐसा आचरण शोभा नहीं देता 

गोवा के मंत्री मोविन गोडिन्हो ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के साथ शिष्टचार के नाते हुई अपनी मुलाकात पर राजनीति नहीं करनी चाहिए।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

पणजी: गोवा के मंत्री मोविन गोडिन्हो ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के साथ शिष्टचार के नाते हुई अपनी मुलाकात पर राजनीति नहीं करनी चाहिए।

मोविन ने यह टिप्पणी राहुल के उस दावे के एक दिन बाद की है जिसमें राहुल ने कहा था कि पर्रिकर ने उनसे मुलाकात के दौरान कहा था कि वह नए राफेल सौदे में शामिल नहीं थे।

“भले ही हम विभिन्न राजनीतिक दलों से संबंधित हों, लेकिन जब हम एक दूसरे के प्रति शिष्टचार जताते हैं, तो यह वहीं तक सीमित रहना चाहिए। किसी को इसमें राजनीति शामिल नहीं करनी चाहिए।”
गोवा के मंत्री मोविन गोडिन्हो

उन्होंने कहा, "अब अगर बड़े नेता भी इस तरह की चीजों में राजनीति करना शुरू कर देंगे तो मेरे अनुसार ऐसा करना सही नहीं होगा।"

राहुल गांधी ने मंगलवार को बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री पर्रिकर के साथ बंद कमरे में एक संक्षिप्त मुलाकात की थी।

राहुल ने हालांकि वहां इंतजार कर रहे पत्रकारों से बात नहीं की लेकिन उन्होंने बाद में ट्वीट कर कहा, "आज सुबह मैं गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर से शीघ्र स्वस्थ होने की शुभकामना देने के लिए मिलने गया। यह एक व्यक्तिगत यात्रा थी।"

इसके बाद वह केरल रवाना हो गए। उन्होंने कोच्चि में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पर्रिकर ने उनसे कहा कि बतौर रक्षा मंत्री राफेल सौदे से उनका कोई लेना-देना नहीं था।

गोवा मंत्री ने कहा, "हर किसी को यह समझना चाहिए कि जब आप किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य के बारे में पूछने जाते हैं तो यह केवल उसी बारे में सीमित होना चाहिए।"

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर से विधानसभा परिसर में मुलाकात की और उनकी तबीयत के बारे में पूछा। 63 वर्षीय पर्रिकर अग्नाशय संबंधी बीमारी से पीड़ित हैं। यह मुलाकात ऐसे समय में हुई जब एक दिन पहले ही राहुल गांधी ने आरोप लगाया था कि ''गोवा ऑडियो टेप'' प्रामाणिक हैं और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पास इस मुद्दे से जुड़े ''धमाका करने वाले राज" हैं। कांग्रेस ने इस टेप का हवाला देते हुए राफेल मुद्दे पर केंद्र पर हमला किया था।

--आईएएनएस