Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
PM Modi के ‘फिलिप कॉटलर प्रेसीडेंशियल अवार्ड’ का राहुल ने उड़ाया मजाक 
PM Modi के ‘फिलिप कॉटलर प्रेसीडेंशियल अवार्ड’ का राहुल ने उड़ाया मजाक |Twitter-Congress
देश

राहुल गांधी ने उड़ाया PM Modi का मजाक, अंडे से की बीजेपी के कार्यकाल की तुलना 

PM Modi के ‘फिलिप कॉटलर प्रेसीडेंशियल अवार्ड’ ग्रहण करने का मजाक उड़ाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि यह पुरस्कार इतना प्रसिद्ध है कि इसका कोई निर्णायक मंडल ही नहीं है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'फिलिप कॉटलर प्रेसीडेंशियल अवार्ड' ग्रहण करने का मजाक उड़ाया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि यह पुरस्कार इतना प्रसिद्ध है कि इसका कोई निर्णायक मंडल ही नहीं है। राहुल ने ट्वीट किया, "मैं प्रधानमंत्री को विश्व प्रसिद्ध कोटलर प्रेसीडेंशियल पुरस्कार मिलने की बधाई देना चाहता हूं।"

उन्होंने कहा, "बेशक यह इतना प्रसिद्ध है कि इसका कोई निर्णायक मंडल नहीं है और इनसे पहले किसी को दिया भी नहीं गया है। यह अवार्ड अलीगढ़ की किसी गुमनाम कंपनी ने दिया है। कार्यक्रम साझेदार : पतंजलि और रिपब्लिक टीवी।"

प्रधानमंत्री का मजाक उड़ाने के बाद कांग्रेस के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से प्रधानमंत्री के बीते पांच वर्ष के कार्यकाल और मोदी सरकार द्वारा लिए गए फैसलों का भी मजाक उड़ाया गया है।

कांग्रेस ने अपने ट्विटर पर चार सवाल पूछते हुए उसका जवाब भी दिया है, पहले सवाल में पूछा गया, पांच साल में मोदी जी ने क्या किया ? दूसरा सवाल था, 15 लाख में कितना मिला ? तीसरे सवाल में पूछा गया, नोटबंदी से क्या मिला ? और चौथे सवाल में पूछा गया, PM Modi ने किसानों का कितना लोन माफ किया ?

आपको बता दें कि, प्रधानमंत्री मोदी को यह पुरस्कार वर्ल्ड मार्केटिंग समिट (डब्ल्यूएमएस) द्वारा सोमवार को दिया गया था। इसके दिसंबर में हुए कार्यक्रम को गेल इंडिया ने सह-प्रायोजित किया था और इसकी साझेदारी बाबा रामदेव के पतंजलि समूह, रिपब्लिक टीवी और कुछ अन्य कंपनियों ने की थी।

मोदी पर राहुल गांधी के कटाक्ष से असहज केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के शासन काल में पूर्व प्रधानमंत्रियों जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी को भारत रत्न दिए जाने का हवाला दिया।

ईरानी ने ट्वीट किया, "बहुत अच्छे। खुद को भारत रत्न देने का निर्णय करने वाले शानदार परिवार से आते हैं।" ईरानी पूर्व प्रधानमंत्रियों नेहरू और इंदिरा गांधी का हवाला दे रही थीं, जिन्हें उनके कार्यकाल में देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान मिला था।