उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के मर्डर केस में गुरमीत राम रहीम सिंह को सजा 
पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के मर्डर केस में गुरमीत राम रहीम सिंह को सजा |Google
देश

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के मर्डर के मामले में गुरमीत राम रहीम दोषी करार

लगभग 15 साल पहले डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के खिलाफ बलात्कार के कथित मामलों को उजागर करने के लिए उनकी हत्या कर दी गई थी। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

चंडीगढ़: आज से करीब 15 साल पहले डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ बलात्कार के मामलें उजागर करने के बाद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या कर दी गई थी। आज हरियाणा के पंचकूला में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने सिरसा के उसी पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को दोषी करार दिया है।

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के बलात्कार के मामले और उससे जुड़ी करतूतों की खबर छापने वाले पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के परिवार को आखिकार लंबी लड़ाई के बाद न्याय मिल ही गई। गुरमीत राम रहीम सहित 4 लोगों को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दीया है और सजा सुनाई है। अब इस मामले में अगली सुनवाई 17 जनवरी को होगी और उस दिन ही सजा का ऐलान किया जायेगा। गुरमीत को दोषी करार किये जाने के बाद पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के बेटे ने कहा कि जिस दिन रेप के मामले में गुरमीत राम रहीम को सजा मिली थी उस हमने इस फैसले का स्वागत किया था और कहा था कि अब उन्हें भी न्याय मिलने की उम्मीद जगी है। उन्होंने कहा, ‘सीबीआई न्यायाधीश ने दबाव में नहीं आते हुए फैसला देकर स्पष्ट संदेश दिया है कि फर्जी साधु नहीं बच सकता । आम आदमी का न्यायपालिका में विश्वास जगा है '।

आपको बता दें कि सीबीआई की विशेष अदालत ने तीन अन्य को भी मामले में दोषी करार दिया है। ये तीनों डेरा प्रमुख राम रहीम के करीबी सहयोगी रहे हैं। पंचकूला में सीबीआई अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिह ने इस फैसले की घोषणा की। ज्ञात हो कि छत्रपति ने सिरसा के डेरा मुख्यालय में ‘साध्वियों' के यौन उत्पीड़न का भंडाफोड़ किया था और 24 अक्तूबर 2002 को नजदीक से उनकी गोली मारी गई थी और बाद में उनकी मौत हो गई थी।