उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
शरद पवार
शरद पवार|IANS
देश

“जब राहुल गांधी ने खुद ही संकेत दे दिया है कि वह प्रधानमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं, तो मीडिया इतना चिंतित क्यों है?” - शरद पवार 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ से नेहरू-गांधी परिवार पर किए गए हमलों और राष्ट्रीय संस्थानों को कमजारे करने की उसकी कोशिश को मतदाताओं ने नकार दिया।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

मुंबई | राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने बुधवार को यहां कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की तरफ से नेहरू-गांधी परिवार पर किए गए हमलों और राष्ट्रीय संस्थानों को कमजारे करने की उसकी कोशिश को मतदाताओं ने नकार दिया। पवार ने अपने 78वें जन्मदिवस पर पत्रकारों से कहा कि भाजपा ने पांच राज्यों में 'काफी अनैतिक अभियान' चलाया और नेहरू-गांधी परिवार पर निजी हमले किए।

पवार ने कहा, "मतदाताओं ने इसे स्वीकार नहीं किया। नई पीढ़ी ने जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी या राजीव गांधी को नहीं देखा है। वे केवल उसी के गवाह हैं, जो पिछले 10 वर्षो में हुआ है। यही वजह है कि युवा मतदाताओं ने इन लोगों पर हमले को स्वीकार नहीं किया और इन राज्यों में भाजपा को सत्ता से बेदखल कर दिया।"

शरद पवार ने कहा कि केंद्र सरकार ने देश के कई संस्थानों को कमजोर करने की कोशिश की, यहां तक कि भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) सेंट्रल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन (Central Bureau of Investigation) , सुप्रीम कोर्ट को भी नहीं बख्शा।

उन्होंने समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से विपक्ष के संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) में शामिल होने की अपील की।

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि 'बीजेपी को विकल्पिक पार्टी का रूप देने में कांग्रेस ने एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कांग्रेस अन्य छोटी पार्टियों के प्रति ग्रहणशील थी। बीएसपी और एसपी हमारे गठबंधन का हिस्सा होना चाहिए। वे अभी तक हमारे साथ नहीं हैं। लोगों ने बीजेपी शासन के 4.5 साल पर इस चुनाव के रूप में नाराजगी व्यक्त की है।'

यह पूछे जाने पर कि अगर विपक्ष को 2019 लोकसभा चुनाव में जीत मिलेगी तो क्या राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे? उन्होंने कहा, "जब राहुल गांधी ने खुद ही संकेत दे दिया है कि वह प्रधानमंत्री पद की दौड़ में नहीं हैं, तो मीडिया इतना चिंतित क्यों है?"

--आईएएनएस