उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण|Google
देश

अयोध्या में राम मंदिर निर्णाम के लिए जब भक्तों ने लगाई ‘जय श्रीराम’ कॉलर ट्यून

भव्य राम मंदिर बनाने का संदेश जनता तक प्रभावशाली ढंग से पहुंचाने के उद्देश्य से राम भक्तों ने ‘जय श्रीराम’ को मोबाइल की कॉलर ट्यून बनाया है और इसे डाउनलोड करने की अपील की है ।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

उत्तर प्रदेश, अयोध्या: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर देश की राजनीति में तनाव का माहौल है। बीजेपी (BJP), शिवसेना सहित तमाम राजनीतिक पार्टी लगातार आंदोलन कर रही है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में अगली सुनवाई के लिए जनवरी 2019 का समय दिया है। जिसपर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आरोप लगाया है की कांग्रेस सुप्रीम कोर्ट के जजों को अयोध्या मामले में सुनवाई नहीं करने दे रही है।

हालांकि प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) की बातों में कितनी सच्चाई है ये तो वहीं जाने। लेकिन भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर के अनोखी पहल की है। दरअसल अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने का संदेश जनता तक प्रभावशाली ढंग से पहुंचाने के उद्देश्य से राम भक्तों ने 'जय श्रीराम' को मोबाइल की कॉलर ट्यून बनाया है और इसे डाउनलोड करने की अपील की है ।

भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव अभिजीत मिश्र ने बताया कि कॉलर ट्यून 'जय जय श्रीराम' बनायी गयी है और जनता से इसे डाउनलोड करने की अपील की गयी है । अब तक दो दिन में ही दस हजार से अधिक लोगों ने इस ट्यून को डाउनलोड किया है ।

अभिजीत मिश्र ने कहा कि राम से बड़ा राम का नाम है । 'मुझे यकीन है कि जय श्रीराम की धुन कॉलर ट्यून के जरिए सुनने वाले का भक्ति भाव जाग्रत अवश्य होगा और इससे अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण का रास्ता भी तैयार होगा ।' भगवान राम को समरसता का प्रतीक बताते हुए उन्होंने कहा कि राम ने जाति बंधन तोडे़ और हर वर्ग के लोगों को अपने साथ जोड़ा ।

बाबर समर्थकों को निशाने पर लेते हुए मिश्र ने कहा कि बाबर आक्रमणकारी था और इसका जिक्र इतिहास की पुस्तकों में स्पष्ट रूप से है । अगर कोई बाबर की तुलना भगवान राम से करता है तो निश्चित तौर पर यह मानसिक दासता है ।