उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 वर्धा में सैन्य डिपो में विस्फोट,
वर्धा में सैन्य डिपो में विस्फोट,|google
देश

महाराष्ट्र: वर्धा जिले के सैन्य डिपो में विस्फोट, 3 की मौत , 12 घायल

मामले की जांच के लिए पुलिस, सेना और प्रशासन के शीर्ष अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नागपुर,वर्धा | महाराष्ट्र के वर्धा में मंगलवार को सेना के गोला-बारूद डिपो में हुए विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई और लगभग 12 घायल हो गए। यह विस्फोट पुलगांव सेंट्रल एम्युनिशन डिपो में सुबह सात बजे उस समय हुआ, जब पुराना गोला बारूद नष्ट किया जा रहा था। विस्फोट की जानकारी मिलने के बाद पुलिस और एंबुलेंस मौके पर पहुंच गई। घायलों को एंबुलेंस से अस्पताल पहुंचाया गया। हादसा पुराना विस्फोटक नष्ट करने के दौरान हुआ है। पुलिस अधिकारीयों द्वारा बताया जा रहा है कि जबलपुर के खमरिया आर्डिनेंस फैक्ट्री के कर्मचारी वर्धा के पुलगांव बम डेमोलिशन रेंज में पुरानी विस्फोटक सामग्री नष्ट करने आए थे। सूत्रों की माने तो आयुध डिपो के कर्मचारी और मजदूरों सहित छह लोगों की मौत हो गई।

विस्फोट सुबह करीब छः बजे हुआ है। पीटीआई द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्धा के एएसपी निखिल पिंगले ने बताया कि हादसे के वक्त मौके पर करीब 10 से 15 मजदूर मौजूद थे। उन्होंने बताया, 'हादसा खुली जगह पर हुआ है। विस्फोटक उतारते हुए विस्फोटक से भरे एक बक्से में विस्फोट हुआ। ' नागपुर रेंज के आईजी केएमएम प्रसन्ना ने बताया कि चार लोगों की मौत मौके पर हो गई, जबकि दो लोगों ने अस्पताल में ईलाज के दौरान दम तोड़ दिया. मृतकों में आयुध डिपो का कर्मचारी और मजदूर शामिल हैं। जख्मी लोगों को सवांगी गांव में नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। अधिकारी ने बताया कि पुलगांव स्थित केन्द्रीय आयुध डिपो का डिमोलिशन ग्राउंड इस (डिमोलिशन) कार्य के लिए खमरिया स्थित आयुध फैक्टरी को दिया गया है।

बता दें कि, मृतक और घायल यहां काम करने वाले श्रमिक और कर्मचारी बताए जा रहे हैं। अभी इस बारे में अधिक जानकारी नहीं मिली है। मामले की जांच के लिए पुलिस, सेना और प्रशासन के शीर्ष अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। ज्ञात हो, साल 2016 में पुलगांव में ही भीषण आग लगी थी, इसमें दो अधिकारियों सहित सेना के 16 जवानों की मौत हो गई थी।