उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Cylinder Blast in Mau district
Cylinder Blast in Mau district|IANS
देश

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में सिलिंडर फटने से 13 लोगों की मौत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जाँच STF को सौंपी।

Deo Prakash Kushwaha

Deo Prakash Kushwaha

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में सिलिंडर फटने से कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई, और लगभग एक दर्जन लोग घायल हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस हादसे में गहरा शोक व्यक्त किया है और पीड़ितों को हर संभव मदद देने का अधिकारियों को निर्देश दिया है। सरकार ने इस घटना की जांच एटीएस को सौंप दी है, जो यह भी पता लगाने की कोशिश करेगा कि विस्फोट सिलिंडर के फटने से हुआ या फिर इसकी कोई और वजह थी।

एटीएस के अधिकारी ने बताया कि “विस्फोट जैसे मामले में एटीएस अपने हिसाब से जांच करके नमूने लाता है, और यह हम लोगों के नियम में शामिल है।”

जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी ने बताया, "मऊ जिले के गोहना कोतवाली क्षेत्र के वलीदपुर नगर के बिचलापुरा मुहल्ले में सोमवार सुबह रसोई गैस सिलिंडर फट गया, जिससे हुए तेज विस्फोट से दो मकान पूरी तरह जमींदोज हो गए, जबकि आसपास के तीन अन्य मकान क्षतिग्रस्त हो गए। इस हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में पांच पुरुष, तीन महिलाएं, दो बच्चे और तीन लड़कियां शामिल हैं।"


उन्होंने बताया कि गंभीर रूप से घायल 11 लोगों को आजमगढ़ और वाराणसी के लिए रेफर किया गया है। मलबा हटाने में आ रही कठिनाई को देखते हुए गोरखपुर से एनडीआरएफ टीम बुलाई गई है।

सूत्रों के अनुसार, बिचलापुरा मुहल्ला निवासी छोटू विश्वकर्मा की विधवा रीता सुबह चाय बनाने के लिए नए सिलिंडर का ढक्कन खोलकर रेगुलेटर लगाने ही जा रही थी कि सिलिंडर से तेजी से गैस निकलने लगी। प्रकाश के लिए उसने घर में रखी इमरजेंसी लाइट जलाई तो तुरंत तेज आवाज के साथ जोरदार विस्फोट हो गया, और उसका दो मंजिला मकान भरभरा कर गिर पड़ा।

यही नहीं, बगल में स्थित भीमा का दो मंजिला मकान भी जमींदोज हो गया। इसके साथ ही बगल के कन्हैया सहित तीन लोगों के मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए।

हादसे की गंभीरता को देखते हुए गोरखपुर से एनडीआरएफ की टीम को बचाव कार्य के लिए बुलाया गया। एनडीआरएफ (NDRF) ने चार लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई। मौके पर आए मंत्री उपेंद्र तिवारी को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा है।

दुर्घटना का कथित कारण सिलिंडर हिंदुस्तान पेट्रोलियम का बताया जा रहा है। शोक में वलीदपुर के व्यापारियों ने बाजार को बंद कर दिया है। घटना के दो घंटे बाद घटनास्थल पर डीएम और एसपी पहुंचे तो स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए। वहीं पांच घंटे बाद घटनास्थल पर डीआईजी कमिश्नर भी पहुंच गए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मऊ में घटी इस घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने जिला प्रशासन के अधिकारियों को घायलों के उपचार की समुचित व्यवस्था करने और हादसे के पीड़ितों को हर संभव मदद एवं राहत प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस हादसे पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट किया, "मऊ में सिलिंडर फटने से हुए हादसे में 11 लोगों की मौत की खबर सुनकर मन काफी आहत है। ईश्वर शोकाकुल परिवारों और उनके प्रियजनों को इस दु:ख की घड़ी में मजबूती दें।"

Priyanka Gandhi Vadra Tweet
Priyanka Gandhi Vadra Tweet
Twitter

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस हादसे पर गहरा शोक जताते हुए संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए तत्काल प्रभावी उपचार की व्यवस्था करने की जरूरत बताई है। सपा मुखिया ने सरकार से मृतक आश्रितों को 20-20 लाख रुपये की आर्थिक मदद दिए जाने की मांग की है।