yellow colour watermelon farming in betul madhya pradesh
yellow colour watermelon farming in betul madhya pradesh|Uday Bulletin
म.प्र. बुलेटिन

प्रगतिशील किसान ने वैज्ञानिकों को किया चकित, एक ही खेत मे उगाए अलग-अलग रंग के तरबूज 

तरबूजों के रंगों में ही अंतर नहीं है बल्कि ये तरबूज स्वाद और सेहत के लिए अलग अलग तरीके से काम आते है, एक तरबूज जो बेहद मीठा है वहीँ दूसरा तरबूज पाइनएप्पल (अनानास) की तरह खट्टा मीठा है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के किसान श्याम पवार ने अपनी मेहनत और लगन की वजह से बड़े-बड़े कृषि वैज्ञानिकों और जेनेटिक्स के जानकारो को दांतों तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दिया है। दरअसल श्याम पवार ने अपने खेत मे अलग अलग प्रकार के तरबूज तैयार कर दिए है जिंनमे कुछ तरबूज बेहद मीठे और कुछ फीके है, वहीँ कुछ तरबूजों में अनन्नास की तरह खट्टा मीठापन है। श्याम पवार के इस चमत्कार को देखने के लिए लोग दूर-दूर आ रहे है।

पांच एकड़ में पीले तरबूज :

Yellow colour Watermelon
Yellow colour Watermelon Betul MP Farmer Shyam Pawar

श्याम ने पिछले वर्ष से ही पांच एकड़ के एक खेत में अलग किस्म के तरबूज की बुवाई की, पकने पर तरबूज को काटने पर अंदर से लाल रंग की जगह पीले रंग का गूदा निकलता है, और साथ ही यह तरबूज न सिर्फ रंग बल्कि स्वाद में भी बिल्कुल अलग है श्याम ने बताया कि इस तरबूज का संवाद अनन्नास की तरह है जो लोगों को बेहद पसंद आ रहा है।

स्वास्थ्य के लिए भी है उपयोगी :

तरबूज शरीर मे पानी की कमी को दुरुस्त करने और मूत्र संवाहिनी नली से जुड़े हुए रोगों में जबरजस्त काम करता है। तरबूज को पाचन में भी लाभकारी बताया गया है वहीँ इस पीले तरबूज को खाकर डायबिटीज पर भी काबू पाया जा सकता है।

श्याम इन दिनों तरबूजों में से आरोही, सरस्वती, और मेलोडी नामक किस्मो को उगा रहे है, पूरे इलाके में श्याम के तरबूजों को लेकर चर्चाएं है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com