मध्यप्रदेश में लव जिहाद पर पांच सालों की कैद, स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन पर एक माह पहले देना होगा आवेदन

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा जल्द ही मध्यप्रदेश सरकार बनाएगी लव जिहाद पर कानून, पांच साल का कठोर कारावास होगा
मध्यप्रदेश में लव जिहाद पर पांच सालों की कैद, स्वेच्छा से धर्म परिवर्तन पर एक माह पहले देना होगा आवेदन
Madhya Pradesh government will form law on love jihadUday Bulletin

लव जेहाद के बारे में भाजपा शासित प्रदेश मध्यप्रदेश के ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बेहद जोरदार बयान दिया है। गृहमंत्री ने अपने बयान में लव जेहाद के ऊपर कानून बनाये जाने की बात कही है और बताया कि अगर लव जेहाद का मामला सामने आता है तो एक्ट के तहत आरोपी व्यक्ति को पांच साल तक कि सजा सुनाई जा सकेगी।

गृहमंत्री बोले अगर लव जेहाद किया तो जेल जाना पड़ेगा:

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अपनी सरकार की तरफ से बयान देते हुए बताया कि अगर मध्यप्रदेश में किसी ने लव जेहाद करने की कोशिश की तो यह मंहगा साबित होगा। दरअसल मध्यप्रदेश ने भी उत्तर प्रदेश की तर्ज पर लव जेहाद के मामलों में रोक लगाने के लिए कानून लाने की तैयारी की है। इस कानून में इस बात का प्रावधान रखा गया है कि अगर कोई व्यक्ति जिस पर लव जेहाद करने का आरोप लगता है तो उसे किसी भी स्थिति में बख्शा नहीं जाएगा।

नरोत्तम मिश्रा ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि "हमने एक अधिनियम बनाने का निर्णय किया है जिसमे यह प्रावधान होगा कि अगर कोई व्यक्ति बहकाकर, बलपूर्वक शादी करता है अथवा जबरन धर्म परिवर्तन कराता है तो पांच वर्ष का कठोर कारावास दिया जाएगा। ग्रह मंत्री ने आगे बताया कि इस तरह के अपराध गैर जमानती भी होंगे।

इस विधेयक को 2020 में ही लाने का निर्णय लिया गया है

कंगना रणौत ने किया स्वागत:

इस मामले में देश के हर मुद्दों पर मुखर होकर अपनी बात रखने वाली बॉलीवुड की क्वीन कंगना राणावत ने मध्यप्रदेश के गृह मंत्री के इस बयान का स्वागत किया है। कंगना ने ए एन आई के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा "ऑसम" दरअसल कंगना पहले ही भारत भर में हो रहे लव जेहाद के मुद्दों पर मुखर होकर बोलती हुई नजर आयी थी।

लोगों ने किया स्वागत:

मध्यप्रदेश के ग्रह मंत्री के इस बयान पर लोगों के रिएक्शन आने शुरू हो गए है। लोगों ने बताया कि देश भर में चल रहे लव जेहाद के मामलों को मध्यप्रदेश में केवल कानून के बल पर ही रोका जा सकेगा। लोगों ने कहा कि यह मामला हिन्दू या मुस्लिम किसी भी धर्म के लोगों से जुड़ेगा कोई भी व्यक्ति दूसरे धर्म से जुड़े हुए लोगों को धूर्तता से जबरन धर्म परिवर्तन नहीं करा सकेगा।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com