घर वालो की बंदिश की वजह से प्रेमी जोड़े फांसी के फंदे पर झूले, छतरपुर जिले के बमीठा थाना क्षेत्र की घटना। 

इश्क हर हाल में अपनी जीत चाहता है, और अगर हार की नौबत आती है तो वह खुद को समाप्त कर लेता है, इसका ताजा नमूना मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में नजर आया । 
घर वालो की बंदिश की वजह से प्रेमी जोड़े फांसी के फंदे पर झूले, छतरपुर जिले के बमीठा थाना क्षेत्र की घटना। 
Young Couple Suicide in ChhatarpurSocial Media

छतरपुर जिले में बमीठा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव बाहरपुरा में प्रेमी जोड़े के फांसी के फंदे पर लटके पाए जाने पर पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गयी, पुलिस ने प्रथमदृष्टया इसे आत्महत्या बताया है लेकिन ग्रामीणों की माने तो इसके कई एंगल हो सकते है।

लड़की की होनी थी शादी :

परिवारीजनों की माने तो लड़की सुषमा पुत्री भैरो पटेल उम्र लगभग 18 वर्ष की अगले तीन दिन बाद शादी थी। शादी हीरापुर निवासी देवेंद्र पटेल से तय हुई थी, लेकिन अगर लोगों की माने तो सुषमा का प्रेम प्रषंग बाहरपुरा निवासी नीरज पुत्र सेवा पाल उम्र लगभग 20 वर्ष से चल रहा था, परिवारी जन इस प्रेम के विरोध में थे और कारण था विजातीय होना यही कारण था कि प्रेमी जोड़े ने प्रेम को पूरा न होने कि स्थिति में यह कदम उठा लिया, शादी के तीन दिन पहले उठाया गया कदम बेहद तकलीफ देने वाला है।

आम का पेड़ बना मौत की जगह :

गांव के समीप ही लगा हुआ आम का पेड़ इस प्रेमी युगल की अंतिम पनाह बन गया, सुषमा और नीरज पाल दोनो इस पेड़ पर चढ़कर फांसी पर लटक पर लटक कर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। लोगों के अनुसार दोनो पक्ष इस शादी को लेकर विरोध में थे यही कारण है कि दोनों युवाओं ने इस रास्ते को अख्तियार किया, पुलिस ने मौके पर पहुँच कर शवों का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए राजनगर राजकीय चिकित्सालय पहुँचाया है.

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com