ola vrishti news shahdol mp
ola vrishti news shahdol mp|Uday Bulletin
म.प्र. बुलेटिन

पेंड्रा नगर शहडोल में टूटा प्रकृति का कहर, भारी तादाद में जानवर हुए कालकवलित 

अब जंगली जानवरो के लिए पेड़ पौधो के अलावा और क्या आसरा है, और प्रकृति की सबसे ज्यादा मार वहीँ पड़ी है। मध्यप्रदेश के जिला शहडोल के अंतर्गत आने वाले पेंड्रा का है मामला।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

ओलो की मार से बेदम हुए जानवर :

एक ओर जहां कोरोना के डर से पूरे भारत मे लॉक डाउन कायम है, जिसकी वजह से जंगली जानवरों जैसे बंदरो को इंसानों के द्वारा छोड़ा गया खाना भी नहीं मिल पा रहा है उसपर देर शाम अचानक प्रकृति ने अपना कहर दिखाया। शाम तक आसमान में अचानक से काले काले बादल घिर आये और चारो तरफ से ओले और पानी की बारिस शुरू हो गयी। ओलो की मार इतनी विकट थी कि ग्रामीण रिहायसी इलाको में घरों पर बने हुए खपरैलों का नक्शा बदल गया और लगभग पूरा का पूरा खपरैलनेस्तोनाबूद हो गया। वहीँ इन ओलो से सबसे ज्यादा नुकसान जंगली जानवरों को हुआ, क्षेत्र में पाए जाने वाले काले लंगूरों को सबसे ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ा। लंगूर ओलो की मार से बेदम होकर पेड़ो से गिरने लगे और नतीजन एक छोटी सी बस्ती के नजदीक ही करीब 6 बंदरो को अपनी जान से हाँथ धोना पड़ा।

घरों का हाल बिगड़ गया :

ओलो की मार से लोगों के जो जानवर घर के बाहर थे उन्हें गंभीर चोटें आई ग्रामीणों के अनुसार अगर दोबारा इस तरह की ओलावृष्टि होती है तो उन्हें सर छुपाने की जगह नही मिलेगी। क्योंकि उनके घर की खपरैल की बानी छत पूरी तरह नष्ट हो गयी। मौके पर उपस्थित लोगों ने बताया कि आसमान से गिरे हुए ओलो का वजन 100 ग्राम तक का भी था, इन्ही ओलो से टकराकर कुर्सियां, गाड़िया इत्यादि चकनाचूर हो चुकी है।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com