उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Heavy Hail in Chhatarpur
Heavy Hail in Chhatarpur|Uday Bulletin
म.प्र. बुलेटिन

मध्यप्रदेश के छतरपुर में ओलो ने तबाह की फसल ! 

सरकार ने भले ही ऑरेंज एलर्ट जारी करके अपना पल्ला झाड़ लिया हो , लेकिन किसान अपनी फसलों को आपदा से कैसे बचाये ? 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

बुंदेलखंड के अंतर्गत आने वाले मध्यप्रदेश के जिला छतरपुर में बीती रात प्रकृति अपना कहर दिखाते हुए नजर आयी, बीती रात जब उत्तर प्रदेश के जिले बाँदा, महोबा, कर्वी और हमीरपुर समेत कानपुर में पानी की बौछारें गिर रही थी तभी छतरपुर के घुवारा, सटई, पिपट और पनागर जैसे गांवों में ओलो की भयानक बरसात हुई जिससे घरों के साथ फसलों का भारी नुकसान हुआ, ओलो के गिरने के बाद तेज बारिश और हवाओ ने मौसम को बेहद सर्द बना दिया जिसकी वजह से किसानों समेत पशुओं का हाल बेहद खराब है।

फसलों समेत पशुओं के हाल बेहद खराब है :

तेज सर्द हवाओं के साथ जैसे ही ओलो ने अपनी दस्तक दी माहौल दर्दनाक हो गया, किसानो की खेतो में खड़ी फसल जमीन की मिट्टी में मिल गयी, और जो पशु घरों के बाहर थे उन्हें ओलो की मार से तकलीफ झेलनी पड़ी, किसानों के अनुसार अब किसी भी हालत में जमीन में लेटी हुई फसल खड़ी नही हो सकती, अब केवल सरकार का आसरा बचा हुआ है।

पान की कीमती फसल तो लम्बे समय के लिए बर्बाद :

गौरतलब हो इन गांवों में पान की खेती की जाती है जिसकी वजह से इन्हें विशेष प्रकार के खेतों में खेती करनी पड़ती है, पान की फसल लेने के लिए एक प्रकार से डिब्बानुमा खेत तैयार करने पड़ते है जो कि तमाम प्रकार की लकड़ियों से खेत को ऊपर से बंद करना पड़ता है, लेकिन ओलो ने पूरी फसल समेत खेतो की बनावट को बर्बाद कर दिया है जिसकी वजह से अब खेतो को दोबारा तैयार करना बिल्कुल नामुमकिन है।