उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Balram Pawar Suspended Teacher
Balram Pawar Suspended Teacher|Twitter 
म.प्र. बुलेटिन

पूर्व मुख्यमंत्री के साथ शोक सभा मे दिखे मास्टर साहब, सरकार ने सुलटाया

पूर्व मुख़्यमंत्री के साथ खड़े होने पर सरकारी शिक्षक को किया गया निलंबित।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

जनाब अगर आप सरकारी कर्मचारी है, और कही किसी पूर्व सत्तादल के नेता का आगमन हो तो आप उन नेता जी की परछाई से भी दूर रहिए ,इसी में आपकी भलाई है, कही ऐसा न हो जाये कि आपके सरकारप्रिय अधिकारियों को इसकी भनक लगी तो आपको नाको चने चबाने पड़ सकते है।

कुछ ऐसा ही हुआ है बड़नगर माध्यमिक शाला के सरकारी शिक्षक बलराम पवार के साथ, मामला किसी रिश्तेदार स्व. देवी सिंह पटेल की अंतिम यात्रा और शोकसभा का था जहां पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान भी उपस्थित थे, इसी दौरान मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज और बलराम पवांर आस पास खड़े नजर आए और इसी आधार पर मध्य प्रदेश के शिक्षा विभाग ने उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया , जिस पर सारे  लोग इसे राजनीति से प्रेरित बताकर निंदा करते नजर आ रहे है।

हो रहा इस मामले का विरोध :

सरकार और राजनीति अपनी जगह है, चूंकि मानव एक सामाजिक प्राणी है और उसे समाज मे रहकर अपने सगे संबंधियों से मिलजुलकर रहना होता है, लोगों के अनुसार अगर विभाग और सरकार को इस बात पर आपत्ति है तो यह न सिर्फ मानवीय आधार पर अन्याय है बल्कि इसे राजनैतिक अपराध के तौर पर देखा जाना चाहिए।

शिवराज ने कांग्रेस को ठहराया दोषी :

अब चूंकि मामला सीधा-सीधा पूर्व मुख्यमंत्री से जुड़ा था इसीलिए शिवराज सिंह ने सोशल मीडिया समेत मीडिया के लोगों को रूबरू होते हुए बताया कि यह कांग्रेस की केवल खीज है, जिसमें वह इतना भी बर्दाश्त नही कर सकती कि कोई सरकारी कर्मचारी आपके किसी निकट संबंधी के अँतिम संस्कार में भी पहुचे जहां दूसरे दलों के लोगो के आने की संभावना हो।

राज्यपाल को भेजा पत्र:

इस मामले को लेकर स्थानीय लोगों और बलराम पवांर के सहयोगियों ने महामहिम राज्यपाल को पत्र लिखकर समस्या से अवगत कराया है ,तथा सरकार को नसीहत देने का काम किया है, पत्र में लोगो ने यह उल्लेख किया है कि मानवीय क्रियाएं  भी कोई चीज होती है, हर बात में राजनीति अच्छी नही होती।