उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 Pragya Thakur BJP MP
Pragya Thakur BJP MP|Social Media
म.प्र. बुलेटिन

Video: अरुण जेटली की श्रद्धांजलि सभा में साध्वी प्रज्ञा ने कहा ‘विपक्ष प्राणघातक शक्ति का प्रयोग शीर्ष बीजेपी नेताओं पर कर रहा है’

अरुण जेटली के निधन का विपक्ष कनेक्शन ?

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

बीते शनिवार यानी 24 अगस्त को भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का लंबी बीमारी के कारण दिल्ली के एम्स अस्पताल में दोपहर 12 बजकर 7 मिनट में निधन हो गया था। उनके निधन की खबर से भाजपा, विपक्षी दलों के नेता सहित पूरा देश शोक में डूबा हुआ है और आज उनकी याद में मध्य प्रदेश के भोपाल में भाजपा की तरफ से श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। इस सभा में अरुण जेटली के अलावा दिवंगत बीजेपी नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर (मृत्यु 21 अगस्त) को भी श्रद्धांजलि दी जा रही थी।

लेकिन इस सभा में उपस्थित भोपाल से भारतीय जनता पार्टी की लोकसभा सदस्य साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कुछ ऐसे बयान दे दिए जिसे लेकर अब विवाद हो रहा है। दरअसल इस सभा में साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि 'विपक्ष बीजेपी के शीर्ष नेताओं पर ‘मारक शक्ति’ का प्रयोग कर रही है। हमें सावधान रहने की जरुरत है, नहीं तो हमारा और अधिक नुकसान होगा।

साध्वी प्रज्ञा ने अपने विवादित बयान में कहा कि 'चुनाव के दौरान एक महाराज जी मेरे पास आये उन्होंने मुझसे कहा कि आप अपनी साधना को कम मत करना, साधना का समय बढ़ाते रहना और इसलिए बढ़ाना क्योंकि यह बीजेपी के लिए बहुत बुरा समय है, और विपक्ष है जो कुछ ऐसा कार्य कर रहा है जिससे बीजेपी को नुकसान होगा। विपक्ष 'मारक शक्ति' का इस्तेमाल बीजेपी को नुकसान पहुंचाने के लिए कर रहा है। निश्चित रूप से विपक्ष बीजेपी के कर्मठ, योग्य और ऐसे नेता जो बीजेपी को संभालते हैं उनपर असर करेगा। उनको हानि पहुंचाएगा , और आप उनका मुख्य टारगेट हैं। इसलिए मेरी बात हमेशा ध्यान में रखिएगा और ये होने वाला है।’

प्रज्ञा ने कहा कि ‘उस समय तो उन महाराज जी की बात को मैंने चलते-चलते सुना और भूल गई। लेकिन आज जब मैं वास्तव में देखती हूं कि हमारे शीर्ष नेतृत्व पहले सुषमा जी, फिर बाबू लाल जी और अब जेटली जी जैसे हमारे नेता, लगातार पीड़ा सहते-सहते हमसे दूर होते जा रहे हैं। अब मेरे मन में आ रहा है कहीं ये सच तो नहीं ? ये प्रश्नवाचक है ? लेकिन ये सच है ? हमारे बीच से हमारा नेतृत्व जा रहा है, असमय जा रहा है।’

आपको बता दें कि 66 वर्षीय पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद उन्हें विभिन्न राजनीतिक हस्तियों, समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने श्रद्धांजलि दी है। राजधानी दिल्ली स्थित निगम बोध घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया अरुण जेटली के बेटे रोहन ने उन्हें मुखाग्नि दी इस मौके पर गृह मंत्री अमित शाह सहित बीजेपी के तमाम बड़े नेता मौजूद थे।