उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 खजुराहो विश्वविद्यालय (सांकेतिक)
खजुराहो विश्वविद्यालय (सांकेतिक)|Social Media
म.प्र. बुलेटिन

शिक्षा माफिया का अजब खेल, सरकारी जमीन पर खड़ी करनी शुरू कर दी थी यूनिवर्सिटी

“सरकारी जमीन पर फर्जी दस्तावेजों के सहारे, खजुराहो विश्वविद्यालय के नाम से कराया जा रहा था निर्माण”     

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

भू माफिया तो आपने तमाम देखे होंगे जो किसी की भी लावारिस पड़ी जमीन पर मौका देख कर जमीन कब्जा करने में जुट जाते हैं। लेकिन मध्यप्रदेश के जिला छतरपुर में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहां एक शिक्षा माफिया सह भूमाफिया ने सरकारी जमीन पर ही कब्जा दिखाकर अपने पैसे बनाने की मशीन यूनिवर्सिटी खड़ी करने की तैयारी लगभग शुरू ही कर दी थी। लेकिन किसी प्रकार यह भनक एसडीएम को लग गयी, जिसके बाद से सारे क्षेत्र में इस मामले को बड़ी गंभीरता के साथ देखा गया।

गौरतलब हो कि सागर क्षेत्र के शिक्षा माफिया द्वारा सरकारी जमीन को निजी दिखाकर और फिर फर्जी दस्तावेजों की मदद से उस जमीन की फर्जी खरीद फरोख्त दिखा कर विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य भी शुरू करा दिया गया था। मजेदार बात तो यह रही कि शिक्षा माफ़िया ने एसडीएम के कदम का न सिर्फ भरसक विरोध किया बल्कि राजनैतिक दबदबे का रसूख दिखाकर ट्रांसफर कराने की कोशिश भी की। लेकिन जैसे-जैसे एसडीएम के तेवर सख्त होते गए , शिक्षा माफिया कानून दिखाने की कोशिश में लग गया, और एसडीएम के सामने फर्जी दस्तावेजों को रखना शुरू कर दिया।

एसडीएम अनिल सपकाले ने सरकारी नक्शा मंगवाकर जमीन की पैमाइश कराई, और अवैध जमीन पर निर्माण को लेकर प्रस्तावित खजुराहो विश्विद्यालय की बिल्डिंग को गिराने का आदेश जारी कर दिया। लेकिन माफिया द्वारा अभी भी एसडीएम अनिल सपकाले के ट्रांसफर के लिए जुगत लगाई जा रही है। देखना यह होगा कि ऊंट किस करवट बैठता है।