उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा के लिए 3 कुत्ते मंगाए गए 
मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा के लिए 3 कुत्ते मंगाए गए |Social Media
म.प्र. बुलेटिन

मध्य प्रदेश सरकार ने पुलिस के कुत्तों और हैंडलर्स का किया तबादला, BJP ने ले ली चुटकी !

मध्य प्रदेश में कुत्तों का ट्रांफर ....

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

मध्य प्रदेश में एक अनोखा तबादला देखने को मिला है। इस तबादले में किसी अधिकारी, कर्मचारी या नेता का नाम नहीं है बल्कि खोजी कुत्तों का नाम है। जिसे लेकर भारतीय जनता पार्टी कमलनाथ सरकार की जमकर आलोचना कर रही है। दरअसल मध्य प्रदेश में कांग्रेस 15 साल बाद सत्ता में लौटी हैं। इसलिए सरकार सुरक्षा और सुविधा को लेकर काफी फिक्रमंद है। इसी का ताजा उदारहण देते हुए कमलनाथ सरकार ने राज्य के 46 खोजी कुत्ते और उनकर हैंडलर्स का तबादला कर दिया है।

सरकारी आदेश के अनुसार 23वीं डॉग बटालियन में तैनात खोजी, ड्रग्स की पड़ताल करने वाले कुत्ते और उनके हैंडलर्स को सरकार ने अलग-अलग जिलों में भेज दिया है। सरकार ने सभी डॉग हैंडलर्स को जल्द से जल्द नए जिले में ज्वाइनिंग देने को कहा है। कांग्रेस सरकार के इस फैसले को लेकर अब भारतीय जनता पार्टी उन्हें कोस रही है। अब कमलनाथ सरकार का ये फैसला उन्ही के लिए मुसीबत बन चुका है।

मध्य प्रदेश के बीजेपी उपाध्यक्ष विजेश लुणावत ने कहा कि वाह री कमलनाथ सरकार तबादला उद्योग में कुत्तों को भी नही छोड़ा।मध्यप्रदेश में डॉग स्क्वाड के ट्रांसफर

मध्य प्रदेश के बीजेपी नेता प्रितेश खरे कहते हैं कि आश्चर्य तो ये है कि कुत्तों ने स्थानांतरण के लिये आवेदन और नजराना कैसे दिया होगा? बिना नजराने के तो स्थानांतरण संभव नहीं हो सकता।

बीजेपी कार्यकर्ता डॉक्टर राजपुरोहित कहते हैं कि डॉग हैंडलरो का ट्रांसफर सरकार के अधिकार क्षेत्र में है। लेकिन किस पुलिसकर्मी के पास किस स्थान पर किस ट्रेड का और किस नाम का कुत्ता है, ऐसी सूचना उक्त तबादला सूची से सार्वजनिक हुई है जो कि सुरक्षा की दृश्टि से उचित प्रतीत नही होती है।

आपको बता दें कि बीते शुक्रवार को ही मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने पंचायत सचिव की जगह सरपंच का तबादला किया गया था। जिसे लेकर भी बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधा था।