उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
IAS की पहल बन गई मिशाल 
IAS की पहल बन गई मिशाल |Google
म.प्र. बुलेटिन

आंगनबाड़ी में पढ़ती हैं मध्यप्रदेश के इस कलेक्टर की बेटी, राज्यपाल ने खत लिख कर दी बधाई 

IAS की पहल बन गई मिशाल। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

आज जहां अपने बच्चों को महंगे और निजी स्कूलों में पढ़ाने की होड़ लगी हुई है वहीं मध्य प्रदेश के एक भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी व कटनी के जिलाधिकारी डॉ. पंकज जैन ने इसके विपरीत जाकर एक मिशाल कायम कर दी है। डॉ. पंकज जैन उनसभी लोगों के लिए एक मिशाल बन गए हैं जो अपने बच्चों को बस इस डर से आँगनवाड़ी नहीं भेजते कि वह उनके स्टेटस को सूट नहीं करता।

समाज के उनसभी बड़े और अमीर लोगों के लिए पंकज जैन मिसाल बन गए हैं, जो अपने बच्चों को निजी और बड़े नाम वाले स्कूलों में पढ़ाने को अपनी शान समझते हैं। जिलाधिकारी पंकज की बेटी पंखुड़ी आंगनबाड़ी में पढ़ने जाती है। और उनके इस पहल को मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल का साथ मिला है। राज्यपाल ने आईएएस अधिकारी के इस काम पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए उन्हें बधाई दी है।

“पंखुड़ी जिस आंगनबाड़ी में पढ़ने जाती है, उस केंद्र के अलावा आसपास के चार-पांच केंद्र किसी प्ले स्कूल से कम नहीं हैं। जब जिम्मेदार अधिकारी अपने बच्चों को इन स्थानों पर भेजते हैं तो स्थितियां अपने आप सुधर जाती हैं, आप भी नजर रखते हैं। कोई कमी होती है तो उसमें सुधार लाने के लिए टोकते भी हैं।”

कटनी के जिलाधिकारी डॉ. पंकज जैन

पंकज की इस पहल को राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने भी सराहा है। उन्होंने पत्र लिखकर कहा है, "लोक सेवक समाज में प्रेरणा के केंद्र होते हैं, उनके आचरण का समाज पालन करता है। कर्तव्यों के प्रति आपकी सहजता ने मुझे अत्यधिक प्रभावित किया है, आपके इस प्रयास से शासकीय सेवकों का दायित्व बोध बढ़ेगा।"

राज्यपाल पटेल द्वारा लिखा गया पत्र रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इसमें राज्यपाल ने आगे लिखा है, "सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के प्रभावी संचालन के प्रति सकारात्मक चेतना का संचार होगा। आशा है लोक सेवक के रूप में इसी निष्ठा और समर्पण के साथ जनसेवा में संलग्न रहेंगे।"

एजेंसी