Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
नए साल के पहले दिनभारत में 70,000 बच्चों ने जन्म लिया
नए साल के पहले दिनभारत में 70,000 बच्चों ने जन्म लिया
लाइफस्टाइल

नये साल के पहले ही दिन भारत में जन्मे 70 हजार बच्च, UNICEF ने जारी किया आकड़ा

यूनिसेफ के अनुसार, इनमें से आधे से अधिक शिशुओं का जन्म विश्व के आठ देशों में होने का अनुमान है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली:संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) के जरिए 1 जनवरी 2019 के बारे में ऐसी जानकारी दी जिसने हर किसी को हैरान कर दिया है। माना जा रहा है कि नए साल के पहले दिन दुनियाभर में 395,000 बच्चों ने जन्म लिया। जिनमें दुनिया भर पैदा हुए कुल शिशुओं में से 18 प्रतिशत का जन्म भारत में हुआ है। भारत में जन्म लेने वाले बच्चों की कुल संख्या 69,944 हैं ,जो कि दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले सर्वाधिक है।

यूनिसेफ (UNICEF) के अनुसार, इनमें से आधे से अधिक शिशुओं का जन्म विश्व के आठ देशों में होने का अनुमान है। जिन आठ देशों में आधे से ज्यादा बच्चे भारत, चीन, पाकिस्तान, संयुक्त राज्य अमेरिका और बांग्लादेश में जन्में हैं।

जिसमें भारत के साथ चीन (44,940), नाइजीरिया (25,685), पाकिस्तान (15,112), इंडोनेशिया (13,256), अमेरिका (11,086), डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (10,053) और बांग्लादेश (8,428) शामिल हैं।

सिडनी में अनुमानित 168 बच्चों का स्वागत किया गया। टोक्यो में (310), बीजिंग में (605), मैड्रिड में (166) और न्यूयॉर्क में (317) बच्चे जन्मे।

भारत में यूनिसेफ (UNICEF) की प्रतिनिधि यासमीन अली हक ने कहा, "इस नए साल के दिन आइए हम हर लड़की और लड़के को उसके संपूर्ण अधिकार देने का संकल्प लेते हैं जो जीवित रहने के अधिकार के साथ शुरू होता है। अगर हम स्थानीय स्वास्थ्य कर्मियों के प्रशिक्षण में निवेश और उन्हें जरूरी सुविधाओं से लैस करते हैं तो हम लाखों शिशुओं को बचा सकते हैं जिससे हर नवजात, हाथों की सुरक्षित जोड़ी में पैदा हो।"

--आईएएनएस