डोमिनिका के प्रधानमंत्री ने कहा थैंक यू भारत और भारत के लोग

भारत की मदद से डोमिनिका की आधी आबादी को लगेगी कोरोना वैक्सीन
डोमिनिका के प्रधानमंत्री ने कहा थैंक यू भारत और भारत के लोग
भारत की मदद से डोमिनिका की आधी आबादी को लगेगी कोरोना वैक्सीन Google Image

अगर भारत की डिप्लोमेसी की बात करें तो भारत ने बीते कुछ वक्त से विदेशों में अपनी डिप्लोमेसी को कुछ अलग तरीके से मजबूत करने की कोशिश की है, भारत अब केवल विदेशी सरकारों के दिलो में जगह नही बनाता बल्कि वहां के लोगों के दिलो में बस जाता है। कुछ ऐसा ही हुआ है कॉमनवेल्थ ऑफ डोमिनिका देश मे जहां के प्रधानमंत्री ने नरेंद्र मोदी को दूसरा देवदूत बना दिया है।

कहा बाइबिल पर भरोसा तो था लेकिन मदद इतनी जल्दी मिलेगी अंदाजा नही था:

दरअसल मामला एक ऐसे देश से जुड़ा है जहां पर लगातार भारत की जयजयकार हो रही है, उत्तरी अमेरिका के महाद्वीप के कैरेबियन क्षेत्र में बसा एक छोटा देश जिसकी आबादी 2019 की गणना के अनुसार 70,000 के आसपास है वहां कोरोना महामारी ने तवाही मचा रखी है। जिस तरह यूरोप और एशिया समेत खुद अमेरिका महाद्वीप के बड़े-बड़े देश वैक्सीन खरीदने में गला काट प्रतियोगिता बना रहे है। ऐसे शोर शराबे में भला एक छोटे और आर्थिक दृष्टि से सामान्य देश की सुने कौन? तो दुनिया भर में विश्व बंधुत्व का भाव रखने वाले भारत के पास डोमिनिका ने अपनी बात रखी और मदद मांगी। चूंकि भारत दुनिया भर में सबसे ज्यादा और उम्दा किस्म की वैक्सीन बनाने के लिए जाना जाता है, हाल में ही भारत ने दो वैक्सीन को खुद देश और दुनिया को समर्पित की है इस लिहाज से डोमिनिका ने भारत से मदद मांगी और भारत ने डोमिनिका की मांग पर प्रमुखता से नजर करते हुए मदद भेज दी। इस पर भावुक होते हुए डोमिनिका के प्रधानमंत्री रूजवेल्ट ने न सिर्फ भारत का धन्यवाद अदा किया बल्कि अपनी भावनाओं के माध्यम से कुछ इस तरह उकेरा...

"भले ही मुझे बाइबल के प्रत्येक शब्द पर भरोसा है लेकिन मुझे यह स्वीकार करना चाहिए कि मैंने कल्पना नहीं की थी कि मेरे देश की प्रार्थनाओं का उत्तर तेजी से दिया जाएगा! थैंक यू इंडिया"

डोमिनिका को मिला डूबते को सहारा:

भारत ने मदद के लिए 70,000 वैक्सीन डोमिनिका को भेज दी है। वैक्सीन के उपयोग के अनुसार यह करीब 35000 लोगों के लिए दो बार के वैक्सीनेशन में उपयुक्त होगी। इस लिहाज से देखा जाए तो डोमिनिका की लगभग आधी आबादी भारत की एक मदद से ही इम्यूनाइज हो सकेगी। वैक्सीन के डोमिनिका पहुंचने पर डोमिनिका और उसके प्रधानमंत्री ने भारत का अनेकों बार धन्यवाद किया है। यही नही देश मे वैक्सीन पहुंचने की खुशी प्रधानमंत्री के ऊपर इस कदर छाई कि आधी रात में पहुँचे प्लेन को रिसीव करने प्रधानमंत्री रूजवेल्ट खुद एयरपोर्ट पहुँचे और वैक्सीन उतारने में ट्रांसपोर्ट कर्मियों के साथ वैक्सीन प्लेन से उतारते नजर आए।

कोरोना काल से ही भारत दुनिया भर में जीवनरक्षक और कोविड के रोकथाम में इस्तेमाल होने वाली दवाओं को भेजकर न सिर्फ अपनी धमक बढ़ा रहा है बल्कि पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com