donald trump vs hillary clinton on who funding
donald trump vs hillary clinton on who funding|Google Image
विदेश

अमेरिका द्वारा विश्व स्वास्थ्य संगठन की फंडिंग बंद करने पर मचा हाहाकार

ये तो होना तय ही था जिस हिसाब से विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोविड 19 को लेकर चीन की तरफदारी की है उसका खामियाजा पूरी दुनिया भुगतेगी, हालांकि फंडिंग रोकने के तमाम परिणाम सांमने आ सकते हैं 

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

हिलेरी क्लिंटन का छलका दर्द :

बीते दिन जैसे ही व्हाइट हाउस के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल ने WHO की फंडिंग रोकने के डोनाल्ड ट्रम्प का आदेश जारी किया उसके बाद दुनिया भर से आवाजे उठने लगी अब इसे राजनीति का नजरिया कहे या फिर कुछ और लेकिन इसके बाद खुद अमेरिका से ही विश्व स्वास्थ्य संगठन के पक्ष में तमाम तर्क दिए जाने लगे। खुद हिलेरी क्लिंटन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के बारे में लिखा "विश्व स्वास्थ्य संगठन इस महामारी के बीच प्रथम पंक्ति में खड़ा है, वह अमेरिका समेत पूरी दुनिया को सलाह, ट्रेनिंग, और कोरोना महामारी में प्रयुक्त होने वाले उपकरणों के बारे में सूचना साझा कर रहा है, ऐसे वक्त में WHO की सहायता राशि बंद करना या उसमें कुछ बदलाव करना न सिर्फ खतरनाक है बल्कि डोनाल्ड ट्रम्प को यह अधिकार नहीं देता की वह यह कर सकें। ट्रम्प कानून को तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहे हैं।

हिलेरी क्लिंटन को भी मिले करारे जवाब :

WHO का पक्ष लेने पर हिलेरी को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा, लोगों ने हिलेरी के इस वक्तव्य को चीनी डिप्लोमेसी का नमूना बताया।

इसके बाद तो मानो व्यंगों की बरसात सी होने लगी, WHO के पूर्व में जारी किए गए बयानों को लेकर मजाक उड़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई। जिसमें 14 जनवरी को WHO द्वारा मानव से मानव में कोरोना संक्रमण फैलने की बायत को गलत बताया गया था।

एक शख्स ने तो महामारी के पीछे विश्व स्वास्थ्य संगठन को ही जिम्मेदार ठहरा दिया।

हालांकि हिलेरी ने जिस प्रकार से संस्थाओं के खत्म होने की बात कही है वह सच और सही है लेकिन अगर ट्रम्प के नजरिये की बात करें तो ट्रम्प भी कहीं से भी गलत नजर नहीं आते क्योंकि विश्व स्वास्थ्य संगठन के द्वारा की गई गलतियों का अंजाम आज पूरी दुनिया भुगत रही है। पिछले एक अर्से से WHO पर चीन हितैषी होने के आरोप लगते आ रहे है।

एंजेला मर्केल ने भी किया WHO का समर्थन:

angela merkel
angela merkel Google Image

जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल डब्ल्यूएचओ के समर्थन में आयी और कहा कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए हर देश को WHO को और अधिक सहयोग करना चाहिए।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com