उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Wuhan China Coronavirus
Wuhan China Coronavirus |Google
विदेश

Coronavirus: चीन के वुहान में फंसे उप्र के दंपति ने केंद्र से मदद मांगी

उत्तर प्रदेश के एटा जिले के रहने वाले है।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

चीन के वुहान में फंसे उत्तर प्रदेश के एटा जिले के रहने वाले एक एसोसिएट प्रोफेसर ने केंद्र से अनुरोध किया है कि चीनी शहर वुहान से 23 अन्य भारतीयों के साथ उन्हें और उनकी पत्नी को तत्काल बाहर निकाला जाए जो नोवेल कोरोनोवायरस प्रकोप का केंद्र है। 35 वर्षीय आशीष यादव वुहान टेक्सटाइल यूनिवर्सिटी में कार्यरत हैं और उनकी पत्नी नेहा (30) वर्तमान में कंप्यूटर साइंस में पीएचडी कर रही हैं। दोनों लगभग हर रोज वीडियो संदेश भेजकर उत्तर प्रदेश में अपने परिवारों के संपर्क में हैं।

परिवार के एक सदस्य ने कहा, "चूंकि नेहा की जनवरी के अंतिम सप्ताह में एक छोटी सी सर्जरी हुई थी, इसलिए उन्हें डॉक्टरों द्वारा एक सप्ताह तक पूरी तरह से आराम करने की सलाह दी गई थी। इसलिए, वे 31 जनवरी की रात वहां से भारतीयों को निकाल कर स्वेदश ला रही उड़ान में नहीं सवार हो सके।"

वुहान में 23 अन्य भारतीय नागरिक हैं, जिनमें छात्र और कामकाजी पेशेवर शामिल हैं। वे सभी घर लौटने के लिए खर्च का भुगतान करने के लिए तैयार हैं। वे नियमित रूप से मदद के लिए हर संभव अथॉरिटी को संकट संदेश भेज रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है।

अपने परिवार को एक संदेश में नेहा ने कहा, "हमने अपनी स्थिति के बारे में भारतीय दूतावास को अलर्ट किया। वुहान के 22 जनवरी को लॉकडाउन से पहले, हमें बताया गया था कि चूंकि कोरोनोवायरस का इन्क्यूबेशन पीरियड सिर्फ 14 दिन है, इसलिए स्थिति फरवरी के पहले सप्ताह तक सामान्य हो जाएगी, लेकिन अब स्थिति गंभीर हो गई है।"

इस दंपति ने एक पत्र भेजा है, जिसमें वुहान में अधिकारियों से कहा गया है कि वे भारत जाने के लिए उन्हें एयरपोर्ट जाने की अनुमति दे।

लेकिन वुहान के अधिकारी भारतीय राजदूत या विदेश मामलों के मंत्री द्वारा उन्हें यात्रा करने की अनुमति देने के लिए सीधे फोन कॉल या हस्तक्षेप की मांग कर रहे हैं।

इस जोड़े की शादी नवंबर 2018 में हुई थी और ठीक एक साल बाद नेहा वुहान चली गईं।

उदय बुलेटिन के साथ फेसबुक और ट्विटर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।