उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Pak Hindu medical student found dead in college hostel
Pak Hindu medical student found dead in college hostel|IANS
विदेश

पाकिस्तान की संसद में उठा हिन्दुओं पर अत्याचार का मामला

पाकिस्तान आजकल उस आदमी की तरह व्यवहार कर रहा है जिसके खुद के बदन पर एक लत्ता मौजूद नही है ,लेकिन उसे दूसरे के जालीदार कपड़ो में  कमी नजर आ रही है !

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

पाकिस्तान को कश्मीर के मुसलमानों की भयानक चिंता हो रही है और खुद के देश में अल्पसंख्यक हिन्दुओं  के ऊपर किये जा रहे अत्याचार नजर नही आ रहे है, बीबीसी के साक्षात्कार के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री से जब यह कहा गया कि " आप दुनिया भर के मुसलमानों की तकलीफों को समझते है तो आपको चीन के उइगर मुस्लिमों पर होते अत्याचार को कैसे नजरअंदाज कैसे कर सकते है ?" इस पर इमरान ने बेहद सेलेक्टिव जवाब दिया कि मुझे इस मामले की ज्यादा जानकारी नही है।

मजेदार बात तो यह है कि जिस चीन की गलबहियां डाले पाक प्यार की पींगे बढ़ा रहा उसे चीन में होते मामले नजर नही आ रहे है   

अब मामला चीन को छोड़कर पाकिस्तान पर सिमट गया है, चलो चीन तो दूर ठहरा लेकिन पाकिस्तान में हिंदुओं पर होते अत्याचार से भी पाक प्रधानमंत्री अनजान है?

इसी मुद्दे को लेकर अब यह मुद्दा पाकिस्तान की संसद में देर सबेर गूंजा , पाकिस्तान के हिन्दू सांसद ने पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में यह बात कही कि " आखिर हिन्दू कब तक अपने परिवारीजनों की लाशें उठाते रहेंगे"

पी एम एल इन के सांसद  खीलदास ने नेशनल असेंबली में कहा कि  बीते महीने में करीब 25-30 हिन्दू बच्चियों का अपहरण किया गया है, और उनका धर्मांतरण , बालात्कार और हत्या जैसे जघन्यतम कामो को अंजाम दिया गया है, जिसकी वजह से हिन्दुओ में भयानक ख़ौफ़ है, और सरकार आंख कान मूंदे सो रही है, खीलदास ने कहा कि हिन्दुओं को निशाना बनाकर हिंसा की जा रही है  ,मंदिरो को जलाया जा रहा है, सांसद ने एसेम्बली को विशेष रूप से अवगत कराया कि  इस तरह की घटनाओं में सबसे ज्यादा इज़ाफ़ा सिंध प्रांत में हुआ है, जिस पर रोक लगाना बेहद जरूरी है ,इस से अल्पसंख्यक अपने आप को सुरक्षित महसूस करेंगे।

यह मुद्दा इस मौके पर ज्यादा प्रकाश में आआया है क्योंकि सिंध प्रांत के लरकाना स्थित मेडिकल संस्थान में एक हिन्दू बच्ची को गला घोंटकर मार दिया है, जिस पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान की थू थू हो रही है।

बीडीएस की छात्रा निमरिता की हत्या को आत्महत्या बताया जा रहा:

Nimrita Kumari
Nimrita Kumari
ians

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में एक हिंदू मेडिकल छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। विश्वविद्यालय प्रशासन ने अंदेशा जताया है कि हो सकता है कि छात्रा ने खुदकुशी की हो लेकिन उसके परिजनों ने उसकी हत्या का आरोप लगाया है। यह मामला सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो गया है और छात्रा के लिए इंसाफ की मांग की जा रही है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की बीडीएस की अंतिम वर्ष की छात्रा निमरिता कुमारी सोमवार को संदिग्ध हालात में अपने हॉस्टल के कमरे में मृत मिलीं। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि उनका शरीर छत से लटकता मिला। रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि कुमारी ने आत्महत्या की है।

विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर अनीला अताउर रहमान ने बताया कि निमरिता अमरता महेर चांदानी अपने कमरे में मृत मिलीं। कमरा अंदर से बंद था। उन्होंने बताया कि पुलिस छात्रा के फोन और अन्य चीजें फोरेंसिक जांच के लिए ले गई है। मौत की वास्तविक वजहों का पता चलना अभी बाकी है।

कुलपति ने कहा कि घटना की सूचना मिलने पर वह खुद और अन्य अधिकारी निमरिता के हॉस्टल पहुंचे। दरवाजा तोड़कर निमरिता को बाहर निकाला गया और अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस को और छात्रा के घरवालों को जानकारी दी गई। शरीर पर किसी तरह की प्रताड़ना के निशान नहीं मिले लेकिन गले पर खरोंच पाई गई है जिससे खुदकुशी की आशंका लग रही है।

छात्रा का संबंध घोटकी जिले के मीरपुर मथेलो शहर के एक बड़े व्यापारी घराने से है। उनके शव को उनके पैतृक स्थान पर भेज दिया गया है।

निमरिता की परीक्षा चल रही थी और एक दिन पहले ही उन्होंने पहले पेपर की परीक्षा दी थी।

यूनिवर्सिटी की रजिस्ट्रार डॉ. शाहिदा ने घटना की रिपोर्ट सिंध के मुख्यमंत्री को भेजी है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से घटना की विस्तृत जांच करने और छात्रा के माता-पिता की हर मदद करने के लिए कहा।

डॉ. निमरिता के भाई डॉ. विशाल ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि उनकी बहन की हत्या की गई है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि घटना से दो घंटे पहले निमरिता ने कॉलेज में मिठाई बांटी थी। ऐसा भला क्या हो सकता है कि इसके महज दो घंटे बाद ही वह खुदकुशी कर ले?

विशाल ने अपनी बहन का पोस्टमार्टम निजी अस्पताल के डॉक्टरों से कराने की मांग की।

सोशल मीडिया पर भी हैशटैग जस्टिस फॉर निमरिता के नाम से एक मुहिम छेड़ी गई है।

सांसद व पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के सिंध की अल्पसंख्यक शाखा के प्रमुख खील दास कोहिस्तानी ने ट्वीट में कहा कि लरकाना के मेडिकल कॉलेज हॉस्टल से बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा का शव मिला है जिसके साथ बर्बरता किए जाने के निशान मिले हैं। अल्पसंख्यकों की असुरक्षा और प्रताड़ना का एक और मामला।

एक अन्य यूजर शाहजहां बलोच ने ट्वीट में बताया है कि यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी बड़ी संख्या में सड़क पर धरने पर बैठ गए और उन्होंने निमरिता के लिए इंसाफ की मांग की।

एक अन्य यूजर ताहा अब्बासी ने लिखा कि हम पाकिस्तान की बेटी के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं।

भाई ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट को किया खारिज, हत्या का आरोप दोहराया:

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में अपने विश्वविद्यालय के हास्टल में संदिग्ध हालात में मृत पाई गई हिंदू मेडिकल छात्रा के भाई ने अपनी बहन की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को खारिज कर दिया है। उन्होंने दोहराया है कि उनकी बहन की हत्या की गई है। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि छात्रा नम्रता कुमारी की मौत की वजह खुदकुशी है।

नम्रता के भाई डॉक्टर विशाल चंद्रानी ने मीडिया से कहा कि उनकी बहन की हत्या की गई है। विशाल कराची के डॉऊ मेडिकल कॉलेज में मेडिकल कंसल्टेंट हैं। उन्होंने नम्रता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि उसके गले के पास पाए जाने वाले निशान इस बात की गवाही दे रहे हैं कि उसकी निर्ममतापूर्वक हत्या की गई है।

उन्होंने कहा, "मैंने अपनी बहन के शव को देखा है और सभी सबूत हत्या की तरफ इशारा कर रहे हैं।"

विशाल ने कहा कि अस्पताल अधिकारियों के मुताबिक, नम्रता ने दुपट्टे का इस्तेमाल कर छत से लटककर खुदकुशी कर ली। लेकिन, उसके गले पर ऐसे कोई निशान नहीं हैं। उन्होंने पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों की ईमानदारी पर सवाल उठाते हुए कहा कि उसकी बांह पर जख्म भी खुदकुशी को नकार रहे हैं। यह जख्म बता रहे हैं कि उसे कसकर पकड़ा गया था। जिस पंखे से लटकने की बात की जा रही है, वह अपनी जगह पर सही-सलामत है।

डॉक्टर विशाल ने कहा, "मैं मांग करता हूं कि मामले की गहराई से जांच के लिए न्यायिक समिति का गठन किया जाए, नहीं तो उन लोगों में कोई भय नहीं रहेगा जो हत्या कर छूट जाएंगे।"

नम्रता का शव लरकाना के शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल कॉलेज विश्वविद्यालय के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में उनके हॉस्टल में मिला था। पुलिस सर्जन डॉ. शमसुद्दीन खोसो ने कहा था कि उन्हें डेंटल छात्रा गले पर रस्सी बंधे होने के निशान मिले हैं।