उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प|IANS
विदेश

बढ़ी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुश्किलें, मध्यावाधि चुनाव की दौड़ में कांटे की टक्कर

मध्य-अवधि चुनावों में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को झटका, अमेरिकी डेमोक्रेट करेगें प्रतिनिधि सभा का नियंत्रण 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

वाशिंगटन | अमेरिकियों ने इस साल के महत्वपूर्ण मध्यावधि चुनावों के लिए मतदान कर दिया। डेमोक्रेट एक तरफ जहां हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव पर कब्जा जमाने के अपने प्रयास में आगे बढ़ रहे हैं तो वहीं रिपब्लिकन सीनेट पर अपनी पकड़ बरकरार रखने की अच्छी स्थिति में दिखाई दे रहे हैं, लेकिन मुख्य स्थानों पर कांटे की टक्कर है।

सीएनएन की खबर के मुताबिक, कांग्रेस के दोनों सदनों पर नियंत्रण की जंग के लिए सभी 50 राज्य और वाशिंगटन डी.सी में मंगलवार को चुनाव हुआ। जानकारों का कहना है कि मध्यावधि चुनावों के लिए इस बार का मतदान प्रतिशत 50 सालों में सबसे अधिक हो सकता है।

अमेरिकियों ने हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव की सभी 435 सीटों और सीनेट की 100 में से 35 सीटों के लिए मतदान किया। 50 में से 36 सीटों पर गवर्नर का भी चुनाव किया जाएगा।

अगर रिपब्लिकन सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव दोनों पर अपना कब्जा बरकरार रखते हैं तो वे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को उनके एजेंडे पर आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं।

लेकिन अगर डेमोक्रेट 23 सीटें जीतकर हाउस में बहुमत में आ जाते हैं तो वे ट्रंप की योजनाओं में बाधा पैदा कर सकते हैं और उन्हें पलट भी सकते हैं।

आपको बता दें कि,अमेरिका में मध्यावधि चुनाव (Mid Term Election) को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए अग्निपरीक्षा के रूप में देखा जा रहा है। मंगलवार को भारी संख्या में अमेरिकी मतदाताओं ने अपना मतदान दिया है। इसे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की विवादास्पद नीतियों पर जनमत संग्रह के तौर पर भी देखा जा रहा है और इसके नतीजे राष्ट्रपति के तौर पर उनके अगले दो साल कैसे होंगे इसका फैसला करेंगे।

2016 के राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार रहीं हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि हमारी लोकतांत्रिक संस्थाओं और मूल्यों को कमजोर करने और ट्रंप प्रशासन के हमले को दो साल तक देखने के बाद अमेरिकियों के लिये ‘बस बहुत हो चुका' कहने का वक्त आ गया है।