उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
New Zealand Mosque Attack
New Zealand Mosque Attack|Twitter
विदेश

न्यूजीलैंड आतंकी हमले पर बोली प्रधानमंत्री, “इतिहास का सबसे काले दिन” 

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में शुक्रवार को एक बंदूकधारी के हमले में 40 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

वेलिंगटन: न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में शुक्रवार को दो मस्जिदों में दो हमलावरों ने अंधाधुंध गोलीबारी की। पुलिस ने इस घटना में कई लोगों की मौत की आशंका जताई है।

'द न्यूजीलैंड हेराल्ड' की रिपोर्ट के अनुसार, गोलीबारी ए1 नूर मस्जिद और लिनवुड मस्जिद में हुई।पुलिस कमिश्नर माइक बुश ने कई लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

बुश ने मीडिया को बताया, "इस क्षेत्र में और अधिक हमलावरों की मौजूदगी को लेकर हम अनिश्चित हैं। हमने इसकी प्रतिक्रिया के लिए पुलिस संसाधन जुटा लिया है और हम लोगों को सुरक्षित करने के लिए देश के प्रत्येक पुलिस संसाधन को तैनात करने की प्रक्रिया में हैं।"

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने गोलीबारी को बताया काले दिन

न्यूज़ीलैण्ड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने न्यू प्लाईमाउथ में मीडिया को संबोधित करते हुए क्राइस्टचर्च की घटना को न्यूजीलैंड के इतिहास का सबसे काला दिन बताया। उन्होंने कहा यह एक अमानवीय घटना है। पुलिस ने एक व्यक्ति को पकड़ लिया है, लेकिन मेरे पास अभी उसके बारे में अधिक जानकारी नहीं है।

मौत के आकड़े सही नहीं

मस्जिदों में दोपहर को जब हमला हुआ, उस समय लोगों की भीड़ वहां जुम्मे की नमाज के लिए एकत्र थी और बांग्लादेश क्रिकेट टीम के सदस्य वहां पहुंच रहे थे। स्थानीय मीडिया ने बताया कि कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई है। पुलिस हमलावर को पकड़ने की कोशिश कर रही है जो अब भी ‘‘सक्रिय’’ है। शहर की घेरेबंदी कर दी गई है जिसके चलते कोई भी व्यक्ति शहर के अंदर या शहर से बाहर नहीं जा सकता।

न्यूजीलैंड-बांग्लादेश का मैच टला

मस्जिदों में दोपहर को जब हमला हुआ, उस समय लोगों की भीड़ वहां जुम्मे की नमाज के लिए एकत्र थी और बांग्लादेश क्रिकेट टीम के सदस्य वहां पहुंच रहे थे। मृतकों की संख्या को लेकर कोई आधिकारिक सूचना नहीं मिली है लेकिन बांग्लादेश की क्रिकेट टीम के प्रवक्ता ने बताया कि कोई खिलाड़ी हताहत नहीं हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘वे सुरक्षित हैं, लेकिन वे सदमे में हैं। हमने टीम से होटल में रहने को कहा है।’’ घटना के बाद पूरी टीम को बस में बिठाकर मस्जिद लाया गया था और जब गोलीबारी हुई, तब टीम मस्जिद में प्रवेश करने ही वाली थी। प्रवक्ता ने बताया कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड न्यूजीलैंड क्रिकेट प्राधिकारियों के संपर्क में है और विचार विमर्श के बाद आगे फैसला किया जाएगा।

प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कैसे हुआ हमला

# मस्जिद में मौजूद एक फलस्तीनी व्यक्ति ने बताया कि उसने एक व्यक्ति के सिर में गोली लगती देखी। उसने कहा, ‘‘मुझे लगातार तीन गोलियों की आवाज सुनाई दी और मुश्किल से 10 सेकंड बाद ही फिर से ऐसा हुआ। हमलावर के पास संभवत: स्वचालित हथियार होगा क्योंकि कोई इतनी जल्दी ट्रिगर नहीं दबा सकता।’’

# हमले के समय डीन अवे मजिस्द में नमाज पढ़ रहे एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि उसने बाहर अपनी पत्नी का शव फुटपाथ पर पड़ा देखा।, ‘‘लोग भाग रहे थे। कुछ लोग खून से सने थे।’’

# एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि उसने बच्चों पर गोलियां चलती देखीं। ‘‘मेरे चारों ओर शव थे।’’

# एक प्रत्यक्षदर्शी ने ‘रेडियो न्यूजीलैंड’ को बताया कि उसने गोलीबारी सुनी और चार लोग जमीन पर पड़े थे और ‘‘हर तरफ खून’’ था।

# अपुष्ट खबरों के अनुसार, हमलावर ने सेना की वर्दी जैसे कपड़े पहने हुए थे।

हमलावर ने बनाया वीडियो

बुश ने बताया कि ऑस्ट्रेलियाई माने जा रहे एक हमलावर ने मस्जिद में लोगों को गोली मारते समय उसका वीडियो भी बनाया और लिखा कि 'यह एक आतंकवादी हमला है।' हमले के बाद उसके सोशल मीडिया अकाउंट को बंद कर दिया है। हमले से पहले उसने 74 पन्नों का मेनिफेस्टो उपलोड किया था। जिसे कोई लोगों ने पसंद भी किया है। अपने मेनिफेस्टो में हमलावर Brenton Tarrant ने इस्लाम के खिलाफ कई बातें लिखी थी।

हमलावर ने कहीं ऐसी बातें

  • जब तक एक भी व्हाइट आदमी जिंदा है, तब तक वो अपने मुल्क पर बाहरी आक्रमणकारियों को कब्जा करने नहीं देगा
  • यह हमला उन इस्लामिक लोगों से बदला लेने के लिए हैं जिन्होंने हमें सालों तक जेल में बंद रखा।
  • यह हमला एब्बा एकरलंद की जान का बदला लेने के लिए है।
  • यह हमला यूरोप में बाहरी लोगों के आकर बसने को रोकने के लिए है।
  • इस हमले से डर का वह माहौल बनेगा जो क्रांतिकारी, मजबूत और भीषण प्रयास के लिए काम आ सके।
  • यह हमला वेस्टर्न सोसाइटी को अस्थिर करके एकजुट करेगा।