उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Benjamin Netanyahu
Benjamin Netanyahu|Image Source: IANS
विदेश

नेतन्याहू ने अमेरिका को धन्यवाद कहा  

सैन्य सौदे में अमेरिका से मिली सहायता के लिए नेतन्याहू ने आभार व्यक्त किया  

Sneha Sinha

Sneha Sinha

जेरुसलम: इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने सैन्य सहायता का रिकार्ड बनाने वाले एक सौदे के लिए अमेरिका का आभार जताया है। पहले से तय यह समझौता अब और प्रभावी हो गया है। सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, सोमवार को अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता हीदर नॉर्ट ने एक बयान में पुष्टि कर कहा कि 10 सालों का 38 अरब डॉलर का समझौता सोमवार से प्रभाव में आ गया है।

अपने आभार को व्यक्त करते हुए बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने कार्यालय द्वारा मंगलवार को जारी बयान में कहा, "मैं अमेरिकी प्रशासन और कांग्रेस का इजरायल के प्रति अपनी प्रतिबद्धता पूरा करने और आने वाले दशक में सहायता निधि प्रदान करने के लिए धन्यवाद देता हूं।"

इस सहायता समझौते पर 2016 में इजरायल के साथ पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा प्रशासन द्वारा हस्ताक्षर किए गए थे।

नेतन्याहू ने कहा, "इजरायल और दुनिया के सामने जटिल सुरक्षा चुनौतियां हैं जिसमें सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण ईरानी आक्रामकता है। इजरायल के अपने बचाव के अधिकार के लिए अमेरिका का अविश्वसनीय समर्थन दोनों देशों के बीच मजबूत संबंध के स्तंभों में से एक है।"

इस सौदे के तहत इजरायल को अगले 10 सालों तक मिसाइल रक्षा के लिए विदेशी सैन्य वित्तपोषण के रूप में प्रति वर्ष 3.3 अरब और 50 करोड़ डॉलर मिलेंगे।

आईएएनएस को नॉर्ट ने कहा, "इस समझौते की पुष्टि कर अमेरिका बिना शर्त इजरायल के आत्मरक्षा के अधिकार की पुष्टि करता है।"

अमेरिका और इज़राइल के बीच के समबन्ध बहुत अच्छे नहीं हुआ करते थे लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा किये गए सैन्य समझौते ने इतिहास को बदला और आज दोनों के सम्बन्धो का दृश्य ही कुछ और है। सूत्रों की माने तो 2016 में अमेरिका द्वारा किसी देश को दी जाने वाली यह सबसे बड़ी सहायता थी। वर्ष 2019 में नया समझौता शुरू होगा और इससे इज़राइल लड़ाकू विमान, सेना और मिसाइल रक्षा प्रणाली को और मजबूत कर सकेगा