अलीबाबा के मालिक बीते कुछ दिनों से है गायब, चीनी सरकार की आलोचना को बताया जा रहा है कारण
अलीबाबा के मालिक जैक मा बीते कुछ दिनों से है गायबGoogle Image

अलीबाबा के मालिक बीते कुछ दिनों से है गायब, चीनी सरकार की आलोचना को बताया जा रहा है कारण

अलीबाबा ग्रुप के मालिक जैक मा जिन्होंने दुनियाभर में चीन का नाम पहुँचाया चीन ने उन्हें गायब कर दिया

चीन बेहद अप्रत्याशित नीतियों वाला देश है भले ही कम्युनिस्टों को समाज का हितैषी माना जाता रहा हो लेकिन वक्त बेवक्त इन विचारधारा की आलोचना करने वालों के साथ बेहद बुरा हश्र हुआ है, ताजा मामला चीन में दुनिया के चुनिंदा अमीरों में जाने वाले जैक मा के साथ जुड़ा हुआ है, सूत्रों ने इस बाबत यह जानकारी लीक की है कि अलीबाबा ग्रुप के मालिक जैक मा कुछ वक्त से लापता है, सनद रहे कि कुछ दिन पहले जैक मा ने चीनी सरकार की आलोचना की थी"

लोग गायब करने की आशंका जता रहे है:

चीन हमेशा से अपने देश के अंदर विरोधियों के दमन के लिए जाना जाता रहा है फिर चाहे वह रोहिंग्या से जुड़ा हुआ मामला हो या निर्वासित दलाईलामा , इन मामलों में चीन ने अपनी आलोचना करने वालो के लिए सभी अमानवीय कृत्यों को अंजाम दिया है। लोगों के अनुमान के हिसाब से चीनी उद्योगपति जैक मा के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है, दरअसल जैक मा बेहद मोटिवेशनल टाइप के बयानों के लिए जाने जाते है, और बयानों की वजह से जैक मा की युवाओ के बीच खासी लोकप्रियता है ,बीते साल अक्टूबर में जैक ने चीनी ब्याजखोर वित्त विभाग , और बैंकिंग की कड़ी आलोचना की थी , इस बयान में जैक ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी लपेट लिया था, इसी बयान के बाद जैक पर चीनी सरकार का गुस्सा उबल पड़ा, सरकार ने जैक के तमामं उपक्रमो पर कड़ी जांचों के आदेश दे दिए और कई उपक्रमों पर तालाबंदी की नौबत आ गयी। यहां आपको बताते चले कि जांच के कई आदेश सीधे शी जिनपिंग के ऑफिस से दिए गए थे।

हमेशा से दमनकारी रहा है चीन:

अगर चीन की बात करे तो लगभग हर मौके पर चीन का रुख लोगों की आवाज को दबाने का रहा है और अगर कोई व्यक्ति, समुदाय चीन की असल सच्चाई लोगों के सामने लाने का प्रयास करता है तो उसके बुरे दिन आना निश्चित है, हाल में ही अमेरिका ने चीन की नीतियों के खिलाफ हल्ला बोला है और इस मुहिम के दुनिया के कई देशों ने इसका समर्थन किया है। अमेरिका ने तिब्बत में चीन की तानाशाही को लेकर मतदान तक करा दिया है और देश दुनिया में बसे लाखों तिब्बतियों ने अपनी आजादी के लिए खुलकर वोटिंग की है।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com