उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी
पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी |IANS
विदेश

भारत के आक्रामक रवैये और उसके द्वारा खतरनाक हथियारों से पाकिस्तान को खतरा : आरिफ अल्वी

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने सोमवार को कहा कि भारत के आक्रामक रवैये और उसके द्वारा खतरनाक हथियारों को शामिल करने से दक्षिण एशिया में रणनीतिक स्थिरता को खतरा है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने सोमवार को कहा कि भारत के आक्रामक रवैये और उसके द्वारा खतरनाक हथियारों को शामिल करने से दक्षिण एशिया में रणनीतिक स्थिरता को खतरा है। यहां एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 'वैश्विक अप्रसार व्यवस्था : चुनौतियां और प्रतिक्रिया' को संबोधित करते हुए अल्वी ने कहा, "दक्षिण एशिया में रणनीतिक स्थिरता को भारत के आक्रामक रवैये और खतरनाक हथियारों को शामिल करने से खतरा है।"

आईएएनएस द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार, रेडियो पाकिस्तान ने कहा, "कुछ देशों द्वारा भारत को परमाणु प्रौद्योगिकी और उन्नत सैन्य हार्डवेयर की आपूर्ति के संबंध में भेदभाव पूर्ण छूट ने क्षेत्रीय सुरक्षा को और जटिल बना दिया है और अप्रसार व्यवस्था की जवाबदेही को कमजोर कर दिया है।"

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने हालांकि उम्मीद जताई कि पाकिस्तान और भारत रणनीतिक स्थिरता के लिए एक संरचना पर सहमति जताएंगे।

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने कहा, "हम उम्मीद करते हैं कि पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में अपने प्रति अच्छी भावना प्रबल करेगा। पाकिस्तान क्षेत्र में रणनीतिक स्थिरता के लिए प्रतिबद्ध है और लगातार संयम व जवाब देही का प्रदर्शन करता रहेगा।"

उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से सर्जिकल स्ट्राइक और सीमित युद्ध की चर्चा पर संज्ञान लेने का आह्वान करते हुए कहा, "किसी को भी पाकिस्तान की क्षेत्रीय सुरक्षा व संप्रभुता की रक्षा करने की क्षमता पर शक नहीं करना चाहिए।"

राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने कहा, "इस्लामाबाद ने विश्वास बहाली के उपायों, हथियारों की होड़ से बचने के लिए भारत से सार्थक वार्ता की उम्मीद नहीं छोड़ी है। दोनों देशों को सेना पर खर्च को बचाने और इसे गरीबों के कल्याण पर खर्च करने की जरूरत है।

आपको बता दें, पाकिस्तान लगातार अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में कश्मीर मुद्दा उठाता रहा है, साथ ही पाकिस्तान ने इस्लामाबाद स्कूल में हुए बम धमाके के लिए भी भारत को जिम्मेवार मानता है।पाकिस्तान सर्जिकल स्ट्राइक और सीमित युद्ध की चर्चा के लिए भारत पे जोर दे रहा है।