उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Imran Khan Cartoon
Imran Khan Cartoon|Google Image
विदेश

पाकिस्तान के अखबार ने अपने प्रधानमंत्री इमरान खान की जमकर बेइज्जती की।

तो जनाब जब वक्त खराब हो तो ऊंट पर बैठे हुए व्यक्ति को कुत्ता काट लेता ,कुछ ऐसे ही हालात आजकल पाकिस्तानी वजीर-ए-आजम के साथ है।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

इमरान खान का सारा वक्त तमाम दुनिया के साथ मामलों को साधने , देश की इकोनॉमी बचाने,कंगाली को दूर करने, खुद पर मुस्लिम कट्टरपंथी आतंकी समूहों को पनाह देने और फैलाने वाला ठप्पा हटाने में निकल रहा है, लेकिन जैसे ही इन सारे कामों के बाद वो शाम को घर पहुंचते हैं ,सारा गुड़ गोबर हो जा रहा है।

मामला पाकिस्तान की आवाम और वजीरे आजम से जुड़ा हुआ है, पाकिस्तान की दुनिया मे गिरती साख को लेकर इमरान खान गए तो थे अमेरिका सारा मैटर सॉल्व करने लेकिन सारे मामले उल्टे पड़ गए, एक तो देशी कहावत के अनुसार पहली पूड़ी हो टेढ़ी निकल आयी, अमेरिका जाने के किये यात्री विमान से निकले , सऊदी ने रहम खाकर अपना निजी विमान दिया और अमेरिका ने उनकी गजब की बेइज्जती कर दी , एक फुट का डोर मैट स्टाइल का रेड कार्पेट बिछा कर, दुनिया भर में जगहँसाई हुई, और वहीँ भारत को गजब का प्रोटोकॉल दिलाया गया, ये बातें तो चलो तब भी ठीक हुई, लेकिन असल बेइज्जती तो अमेरिका में बाइलेटरल डायलाग के समय हुई।
मौका था अमेरिका के प्रेसिडेंट का दो अलग अलग देशो के साथ बात करने का , एक ओर जहां डोनाल्ड जे ट्रम्प भारत के सामने चुनाव की वजह से याचक की भूमिका में नजर आए , क्योंकि अगले साल अमेरिका में चुनाव है और ट्रम्प किसी भी स्थिति में अपनी गद्दी से उतरना नही चाहते, तो भारत और भारत के प्रधानमंत्री का गजब का स्वागत किया गया, वहीँ पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय वार्ता के समय पाकिस्तान के पत्रकारों समेत पाकिस्तानी प्रधानमंत्री तक की खिंचाई हुई, जब एक पत्रकार ने यह कहा कि आप कश्मीर मुद्दे को क्यों नही सुलझाते तो ट्रम्प ने अपना बचाव करते हुए साफ लफ्जों में कहा कि "जब तक भारत इसके लिए तैयार नही होता ,मैं कुछ नही कर सकता "
वही इस मीटिंग की दौरान ट्रम्प ने पत्रकारों समेत इमरान खान से  चुटीले शब्द कहे

गैर तो गैर, खुद पाकिस्तानियों ने घर मे आग लगाई:

वो तो अमेरिका था, ऐसा देश जिसके रहमो करम से पाकिस्तान एक लंबे अरसे से अपनी दाल रोटी का जुगाड़ करता आ रहा है लेकिन जब अपने देश मे अपने लोग ही खुद को पलीता लगाने लगे तो समस्या विषम हो जाती है , कुछ ऐसा ही हुआ है पाकिस्तान में , एक अखबार है  "द नेशन" उनके कार्टूनिस्ट ने अपने देश के पीएम के साथ भद्दा मजाक करते हुए एक कार्टून छाप दिया, उस कार्टून में एक घोड़ा गाड़ी है जिस पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सवार है, लेकिन पाक पीएम घोड़ा गाड़ी में घोड़ा/घोड़ी की जगह जुते हुए नजर आ रहे है, देखने मे ऐसा लग रहा है ट्रम्प इमरान को घोड़े की तरह हांक रहे है और मोदी बेहतरीन तरीके से मुस्कान बिखेरे बैठे है।
बस यह कार्टून अखबार में छपा और पाकिस्तान की आवाम बिफर बैठी, एक तो विदेशों से जिल्लत थोक के भाव मिल रही है और अपने घर मे क्रिएटिव लोगों से जूते पड़ रहे है,खैर विरोध हुआ, मामले को सुलटाने की कोशिश की गई और अखबार ने लिखित में माफी भी मांगी, लेकिन अखबार में छपे कार्टून को नष्ट कैसे किया जा सकता है, यह कालजयी और अमर हो गया।
हालकि इसके बाद समाचार पत्र ने लिखित में माफी भी मांगी और उस माफी को ट्विटर पर भी पोस्ट किया , लेकिन तीर अगर कमान से निकल गया तो वापस कैसे होगा?

जब इमरान ने कहा, आप मेरी जगह होते तो आपको हार्ट अटैक हो जाता

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान खुद को कितनी परेशानियों से घिरा हुआ पा रहे हैं, यह खुद उनकी बात से स्पष्ट हो रहा है। हल्के-फुल्के अंदाज में ही सही, लेकिन वह यहां तक कह बैठे हैं कि दिक्कतें इतनी हैं कि कोई और उनकी जगह होता तो उसे हार्ट अटैक हो गया होता। उनकी बातों से यह भी साफ हो गया है कि वह जो चाहते हैं, कई बार उसे भी नहीं कर पाते। पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, कौंसिल आन फॉरेन अफेयर्स में संबोधन के दौरान इमरान ने अफगानिस्तान, भारत और चीन के बीच स्थित कई समस्याओं से घिरे पाकिस्तान के सामने पेश चुनौतियों पर बात करते हुए दिल का दौरा पड़ने से जुड़ी टिप्पणी की।

उन्होंने कौंसिल आन फॉरेन अफेयर्स के अध्यक्ष व चर्चा के मॉडरेटर रिचर्ड हॉस के एक सवाल पर यह टिप्पणी की। इमरान ने हॉस से कहा, "पाकिस्तान के सामने इतनी गंभीर चुनौतियां हैं कि अगर आप मेरी जगह होते तो आपको हार्ट अटैक हो जाता। यह तो क्रिकेट खेलने के दौरान सीखे गए मुश्किल और कड़ी मेहनत के तौर तरीकों की वजह से संभव हो सका है कि मैं दृढ़तापूर्वक इन चुनौतियों का सामना करने और इनसे निपटने की कोशिश कर रहा हूं।"

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान इमरान खान की इस बात पर आयोजन में ठहाके लगे।

हंसी-मजाक के बीच ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री एक बार फिर अपनी बेचारगी उस वक्त दिखा गए जब उन्होंने कहा कि कुछ मामलों से निपटने के लिए उनके पास वह पॉवर नहीं है जो चीन के शासकों के पास होती है। उन्होंने कहा कि चीन हमारे लिए प्रगति की मिसाल है। उसने अपने करोड़ों नागरिकों को गरीबी से बाहर निकाला है। इमरान ने कहा, "अगर मेरे पास भी उनके जैसे आदेश जारी करने की शक्ति हो तो मैं भी देश से गरीबी और भ्रष्टाचार खत्म कर दूं।"

हमारा माफीनामा कम नोट :

देखो भैया इमरान खान और पाकिस्तान से हमारी कोई निजी दुश्मनी नहीं है, उनके देश का मामला है, पब्लिक डोमेन में आया तो हमने छाप दिया है इस से हमारा कोई लेना देना नही है , उनके कर्म ही ऐसे हैं कि उनको जिल्लत झेलनी पड़ रही है।