उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 दुनिया के सबसे लंबा पूल  
दुनिया के सबसे लंबा पूल  |Google
विदेश

चीन ने फिर कायम की मिशाल, बनाया दुनिया का सबसे लंबा पुल 

चीन ने हांगकांग को मकाऊ और झुहेई शहर से जोड़ने वाले, समुद्र पर बने दुनिया के सबसे लंबे पुल को मंगलवार को आधिकारिक रूप से खोल दिया। समुद्र पर बना यह पुल 55 किलोमीटर लंबा है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

बीजिंग: चीन ने हांगकांग को मकाऊ और झुहेई शहर से जोड़ने वाले, समुद्र पर बने दुनिया के सबसे लंबे पुल को मंगलवार को आधिकारिक रूप से खोल दिया। समुद्र पर बना यह पुल 55 किलोमीटर लंबा है।

राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने चीन के दक्षिणी ग्वांगदोंग प्रांत में झुहेई में आयोजित एक विशेष समारोह में 20 अरब डॉलर की लागत से बने पुल का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में हांगकांग और मकाऊ के नेताओं समेत करीब 700 मेहमान शामिल हुए।

हांगकांग स्थित साऊथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक खबर के मुताबिक, शी ने एक वाक्य बोलकर इस पुल का उद्घाटन किया।

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि पर्ल नदी के मुहाने पर लिंगदिंगयांग जल क्षेत्र में बना यह पुल समुद्र पर बना दुनिया का सबसे लंबा पुल है।

पुल को सामान्य यातायात के लिए बुधवार से खोला जाएगा। इस पुल के निर्माण से हांगकांग और झुहेई के बीच यात्रा करने में लगने वाला तीन घंटे का समय घटकर 30 मिनट रह जाएगा।

चीन के उप प्रधानमंत्री हान झेंग ने कहा कि यह पुल हांगकांग तथा चीन के मुख्य भूभाग को आर्थिक तथा व्यापार गतिविधियों के लिहाज से और करीब लाएगा। इस पुल से हांगकांग और मकाऊ को चीन के मुख्य भूभाग से जोड़ने में मदद मिलेगी।

यह पुल चीन को हांगकांग और मकाऊ से जोड़ता है। पुल को झुहाई शहर में एक समारोह के दौरान खोला गया।

'सीएनएन' की रिपोर्ट के अनुसार, यह पुल 20 अरब डॉलर की लागत से नौ साल में बनकर तैयार हुआ है।

Also read: महाराष्ट्र के बाद अब बिहार में भी प्लास्टिक बैग पर प्रतिबंध 

यह चीन के ग्रेटर बे एरिया योजना का एक प्रमुख भाग है। ग्रेटर बे एरिया दक्षिण चीन का करीब 56,500 वर्ग किमी क्षेत्र कवर करता है। इस क्षेत्र में 6.8 करोड़ लोग रहते हैं और इसमें हांगकांग व मकाउ सहित करीब 11 शहर शामिल हैं।

पुल के समर्थकों ने कहा है कि इस पुल के कारण इन शहरों के बीच की यात्रा का काफी समय बचेगा जिससे यात्री और पर्यटक इस क्षेत्र के आसपास आसानी से यात्रा कर सकेंगे।

हालांकि, हांगकांग के निजी कार मालिकों को पुल से गुजरने की अनुमति के लिए विशेष परमिट लेना होगा। अन्यथा, उन्हें अपनी कार पार्क कर शटल बस या विशेष रूप से हायर कारों द्वारा आगे बढ़ने की अनुमति होगी।

(भाषा)