उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Bangladesh Prime Minister Sheikh Hasina)
बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Bangladesh Prime Minister Sheikh Hasina) |IANS
विदेश

बांग्लादेश में शेख हसीना की शानदार जीत पर प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई, विपक्ष के खाते में गई सिर्फ 7 सीटें 

बांग्लादेश के चुनाव आयोग ने सोमवार को यह जानकारी दी।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

ढाका: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Bangladesh Prime Minister Sheikh Hasina) आम चुनावों में अपनी पार्टी अवामी लीग (एएल) की शानदार जीत के बाद बतौर प्रधानमंत्री नए कार्यकाल के लिए तैयार हैं। बांग्लादेश के चुनाव आयोग ने सोमवार को यह जानकारी दी।

'बीडीन्यूज24 डॉट कॉम' की रिपोर्ट के अनुसार, चुनाव आयोग द्वारा 298 सीटों के लिए जारी परिणामों के अनुसार, 300 सीटों में 259 संसदीय सीटों पर जीत हासिल करने के बाद शेख हसीना (PM Sheikh Hasina) चौथी बार प्रधानमंत्री बनेंगी। सत्तारूढ़ दल की प्रमुख सहयोगी जातीया पार्टी ने 20 सीटों पर जीत दर्ज की है।

पीएम मोदी (PM Modi) ने शेख हसीना (PM Sheikh Hasina) को जीत की बधाई दी और कहा "शेख हसीना जी से बात की और बांग्लादेश चुनावों में शानदार जीत की बधाई दी। आगे कार्यकाल के लिए उनको बहुत शुभकामनाएं। पीएम मोदी (PM Modi) ने भारत और बांग्लादेश के विकास और हमारे द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने के लिए मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता को दोहराया।

जिसके बाद पीएमओ की तरफ से जानकारी दी गई कि "पीएम शेख हसीना (PM Sheikh Hasina) ने बधाई देने के लिए फोन करने वाले पहले नेता होने के लिए पीएम मोदी (PM MOdi ) को धन्यवाद दिया। उन्होंने भारत को लगातार और उदार समर्थन के लिए धन्यवाद दिया, जिससे बांग्लादेश के विकास को लाभान्वित किया,साथ उन्होंने पीएम के इस प्रतिबद्धता की सराहना भी की।

विपक्षी गठबंधन की एक प्रमुख सहयोगी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) को बड़ी हार का सामना करना पड़ा है। बीएनपी को केवल पांच और जातीय ओइका फ्रंट में उसकी सहयोगियों को दो सीटें मिलीं।

विपक्षी ओइका फ्रंट के प्रमुख कमल हुसैन ने चुनावों को एक 'नाटक' बताया और मतदान में हुई धोखाधड़ी का हवाला देते हुए दोबारा मतदान की मांग की है। बता दें कि आम चुनाव के लिए रविवार को मतदान हुआ था।

जातिया ओइका फ्रंट ने चुनाव परिणामों को अस्वीकार करते हुए चुनाव आयोग से तटस्थ सरकार के तहत नए चुनाव कराने का आह्वान किया। चुनावों के दौरान हुई हिंसा में देश भर के 11 जिलों में कम से कम 17 लोगों की मौत हुई थी।

--आईएएनएस