उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 माउंट एवरेस्ट
माउंट एवरेस्ट
विदेश

माउंट एवरेस्ट पर बना कूड़े का रिकॉर्ड, मरने वालों की संख्या भी बढ़ी

माउंट एवरेस्ट पर हुई सबसे खौफनाक घटना, जान कर दंग रहे जाएगें 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर 10000 किलोग्राम से अधिक ठोस अपशिष्ट इकट्ठा हो गया है। जिसके कारण एवरेस्ट के आस-पास का इलाका दूषित हो गया है और अब यह कूड़े लोगों की जान का दुश्मन बन रहा है।

माउंट एवरेस्ट के ऊंचे शिविरों में कम से कम चार शव और पर्वतारोहियों द्वारा छोड़े गये कूड़े वहां आने वाले अन्य पर्वतारोहियों को नुकशान पहुंचा रहे हैं।

जिसके बाद पता चला है कि माउंट एवेस्ट से लौट रहे एक और पर्वतारोही की मौत हो गई है, और अब 2019 में मरने वाले पर्वतारोहियों की संख्या 11 हो गई है। नेपाल सरकार के एक अधिकारी ने मंगलवार को इसकी पुष्टि की।

नेपाल के पर्यटन विभाग की निदेशक मीरा आचार्य ने सीएनएन को बताया कि अमेरिकी वकील क्रिस्टोफर जॉन कुलिश (62) की एवरेस्ट के नेपाल की ओर वाले स्थान पर पहाड़ की चोटी पर पहुंचने के बाद सोमवार को मौत हो गई।

उन्होंने कहा कि उतरते समय वे सोमवार शाम सुरक्षित रूप से दक्षिणी कोल (25,918 फीट) पर पहुंच गए थे, इसके बाद अचानक उनकी मौत हो गई।

कोलोराडो के कुलिश के परिजनों ने कहा कि खबर सुनकर वे दुखी हैं।

सोमवार को ही एक ऑस्ट्रेलियाई परिवार ने भी अपने एक रिश्तेदार की मौत की पुष्टि की थी। अर्न्‍स्ट लैंडग्राफ (64) की एवरेस्ट की चढ़ाई का अपना सपना पूरा करने के कुछ घंटों बाद ही 23 मई को मौत हो गई थी।

पर्वतारोहियों का कहना है कि खराब मौसम, कम अनुभव और पर्वतारोहण के औद्योगिकीकरण के कारण ये घटनाएं बढ़ गई हैं।

साल 1922 के बाद से माउंट एवरेस्ट पर लगभग 200 पर्वतारोहियों की मौत हो चुकी है।