उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
श्रीलंका विस्फोट  
श्रीलंका विस्फोट  |Twitter
विदेश

सुरक्षा के बीच अचानक लापता हुआ श्रीलंका हमले का गुनहगार परिवार !

श्रीलंका हमले में संदिग्ध का परिवार लापता और यह बात मीडिया ने बताई। 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

श्रीलंका में 21 अप्रैल ईस्टर के दिन हुए बम विस्फोटों के मुख्य संदिग्ध की बहन ने कहा है कि उसके परिवार के 18 सदस्य लापता हैं और उसने हमलों और छापों के बाद इनके मारे जाने की आशंका जताई है। मीडिया ने यह जानकारी दी।

मोहम्मद हाशिम मथानिया, मोहम्मद जहरान हाशिम की बहन है, जिस शख्स के बारे में श्रीलंकाई अधिकारियों का मानना वह हमले के सरगनाओं में से एक है।

मथानिया ने शनिवार को सीएनएन से कहा कि उसने सप्ताह की शुरुआत में पुलिस स्टेशन में शरीर के हिस्सों की तस्वीरें देखकर अपने भाई की पहचान की।

उसने कहा, "हमलों (रविवार को) के बाद से पांच लोग लापता हो गए। इनमें मेरे तीन भाई, मेरे पिता और मेरी बहन के पति शामिल हैं।"

श्रीलंका के पूर्वी तटीय शहर संथमारुथु में शुक्रवार की रात पुलिस और कथित आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में छह संदिग्ध आतंकवादियों के साथ 10 नागरिक मारे गए जिनमें छह बच्चे भी शामिल थे।

शनिवार को जिस घर पर छापेमारी की गई, वहां भयावह दृश्य देखने को मिला। तीन विस्फोटों में छत उड़ गई थी और जले हुए शव मिले।

उस छापे में मारे गए आतंकवादियों में से एक की पहचान स्थानीय चरमपंथी समूह नेशनल तौहीद जमात के प्रमुख सदस्य और मथानिया के जीजा मोहम्मद नियास के रूप में की गई है।

मथानिया ने सीएनएन को बताया, "मैं इससे तब तक प्रभावित नहीं हुई जब तक मैंने पुरुषों और महिलाओं के शवों को नहीं देखा। जब उन लोगों ने छह बच्चे कहा.. तो मुझे लगा कि क्या वे मुझसे संबंधित लोग हो सकते हैं।"

उसने कहा, "महिलाओं में, घर में पांच महिलाएं थीं। मेरे तीन भाइयों की पत्नियां, मेरी छोटी बहन और मेरी मां। कुल मिलाकर सात बच्चे थे।"

मथानिया ने कहा कि उसके भाई जहरान हाशिम की पत्नी और बेटी इस समय अस्पताल में हैं। ये छापे ईस्टर के दिन देश में विभिन्न जगहों पर हुए विस्फोटों के मामले में अपराधियों की धड़-पकड़ का हिस्सा हैं। विस्फोटों में 253 लोग मारे गए हैं और 500 से ज्यादा घायल हुए हैं।

राष्ट्रीय पुलिस प्रवक्ता रुवान गुनसेकरा ने रविवार को कहा कि पिछले 24 घंटों में कम से कम 48 संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है।

इस बीच, तीन सांसदों ने सीएनएन को बताया कि उनके निजी सुरक्षा अधिकारियों को श्रीलंकाई पुलिस के वीआईपी सुरक्षा प्रभाग से इन्टर्नल मेमो मिला है जिसमें चेतावनी दी गई है कि आने वाले दिनों में और हमले हो सकते हैं।

मेमो में कहा गया कि हमलों की योजना उन्हीं साजिशकर्ताओं द्वारा बनाई गई है जिनका हाथ रविवार को ईस्टर के दिन हुए हमलों के पीछे है।

एजेंसी