उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
अमेरिकी दंपति को 25 साल की जेल 
अमेरिकी दंपति को 25 साल की जेल |Google
विदेश

अमेरिका में अपने बच्चों के साथ माँ-बाप ने जो किया वो दुश्मन भी करने से पहले 100 बार सोचेगा

बच्चों को यातना देने के आरोप में अमेरिकी दंपत्ति को 25 साल की सजा सुनाई गई। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

वैसे तो माँ-बाप बच्चों के लिए भगवान की तरह होते हैं, बच्चों को पढ़ाना-लिखाना, सही रास्ता दिखाना, बच्चों की देखभाल करना, उन्हें हर बुरी चीज़ से दूर रखना हर माँ-बाप का कर्तव्य होता है। लेकिन आज के जमाने में कुछ माँ-बाप ऐसे भी हैं जो अपने ही बच्चों के लिए दुश्मन बन गए हैं। यह घटना अमेरिका के कैलिफोर्निया की है। जहां अपने बच्चों को प्रताड़ित करने के आरोप में एक अमेरिकी दंपत्ति को 25 साल की जेल की सजा सुनाई गई है।

कैलिफोर्निया के इस दंपत्ति पर अपने घर में बच्चों को वर्षों तक कैद रखने और उन्हें यातना देने का आरोप लगा है। जिसके बाद उन्हें इस मामले में दोषी ठहराया गया है। उनकी बेटियों में से एक ने शुक्रवार को सुनवाई के दौरान कहा,

"मेरे माता-पिता ने मुझसे मेरी पूरी जिंदगी ले ली..लेकिन अब मैं अपनी जिंदगी वापस जी रही हूं।"

अमेरिकी दंपति को 25 साल की जेल 
अमेरिकी दंपति को 25 साल की जेल 
Google

वह उन दो बच्चों में से एक है जो अब कॉलेज में हैं, और अदालत में गवाही देने के लिए उपस्थित हुई है। उसने बताया कि वे अपने माता-पिता, डेविड और लुईस टर्पिन के हाथों कैसे प्रताड़ित हुए।

दंपत्ति पर यह आरोप पिछले साल की शुरुआत में ही लगाया गया था। लेकिन पुलिस ने उन्हें अब जा कर गिरफ्तार किया है। जब उनके दो साल से लेकर 29 साल की आयु के बीच के 13 बच्चों में से एक पेरिस (काउंटी) घर से भागने में कामयाब रही और फिर पुलिस को सारे मामले की सूचना दी।

अधिकारियों ने कहा कि भाई-बहन बाहरी दुनिया से अलग-थलग पड़ गए थे और उन्हें अक्सर स्नान, मेडिकल केयर और भोजन देने से वंचित रखा जाता था। बच्चों को कभी-कभी सप्ताहभर या महीनों तक बांध कर भी रखा जाता था।

अमेरिकी दंपति को 25 साल की जेल 
अमेरिकी दंपति को 25 साल की जेल 
Google

पीड़ितों ने पुलिस को बताया कि शुरू में उन्हें रस्सी से बांध कर रखा जाता था। लेकिन जब एक पीड़ित वहां से निकल भागा, तो माता-पिता ने अपने कुछ बच्चों को बेड से बांधने के लिए जंजीरों और पैडलॉक का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।

उनके बेटों में से एक ने शुक्रवार को अदालत को बताया, "बड़े होने के दौरान हमने जो यातना बर्दाश्त की उसे मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। जो कुछ हुआ उसके कभी-कभी मुझे अभी भी डरावने सपने आते हैं जैसे मेरे भाई-बहनों को चेन से बांधा जाना या उन्हें पीटा जाना।"