उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पाकिस्तान 360 भारतीय कैदियों को रिहा करेगा 
पाकिस्तान 360 भारतीय कैदियों को रिहा करेगा |Google
विदेश

भारत के राजनीतिक शोर-शराबों के बीच पाकिस्तान ने दिखाई दरियादिली 

पाकिस्तान ने घोषणा की है कि वह सोमवार को मानवीय आधार पर 360 भारतीय कैदियों को रिहा करेगा। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भारत में चुनावी माहौल है। राजनीतिक पार्टियां पूरी तैयारी के साथ चुनावी-रण में अपने प्रचार-प्रसार के हथियारों के साथ खड़ी है। हर बार की तरह इस बार भी मुद्दों की सुई पाकिस्तान, राष्ट्रवाद और हिन्दू-मुस्लिम पर अटकी है।

बीजेपी, कांग्रेस सहित तमाम पार्टियों को हिन्दू राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने में लगी तो कांग्रेस सर्व-धर्म संभाव की छलयोजना के साथ लोकलुभावन वादे कर रही है। वैसे भी भारत के चुनाव में पाकिस्तान का हमेसा से अहम योगदान रहा है।

पाकिस्तान को कोसे बिना हमारे देश में आज तक ना चुनाव हुए हैं और अगर ऐसे नेता रहे तो ना कभी चुनाव हो पाएंगे। बहरहाल 2019 के लोकसभा चुनाव में मामला थोड़ा अलग है। पाकिस्तान के नए-नवेले प्रधानमंत्री इमरान खान को शांति पुरस्कार की तलब लगी है और अपनी इसी ख्वाहिश के लिए उन्होंने भारत के लिए दरियादिली दिखाते हुए 360 भारतीय कैदियों को रिहा करने का फैसला लिया है।

पाकिस्तान 360 भारतीय कैदियों को रिहा करेगा 
पाकिस्तान 360 भारतीय कैदियों को रिहा करेगा 
twitter

दरअसल पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव इतना बढ़ गया था कि पाकिस्तान ने इस फजीहत से निकलने के लिए हर मुमकिन कोशिश करनी शुरू कर दी है और शुक्रवार को घोषणा की कि वह सदभावना के तौर पर इस महीने 360 भारतीय कैदियों को चार चरणों में रिहा करेगा जिनमें ज्यादातर मछुआरे हैं।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि -

भारतीय मछुआरों को रिहा करने की प्रक्रिया सोमवार यानी आठ अप्रैल से शुरू होगी। उस दिन 100 मछुआरे रिहा किये जाएंगे। जिसके बाद 15 अप्रैल को दूसरे चरण में भी 100 और भारतीय छोड़े जाएंगे। 22 अप्रैल को तीसरे चरण में 100 और भारतीय रिहा किये जाएंगे तथा 29 अप्रैल को चौथे चरण में बाकी 60 कैदी मुक्त किये जाएंगे।

‘‘हम सदभावना के तौर पर ऐसा कर रहे हैं और आशा करते हैं कि भारत सकारात्मक प्रतिक्रिया दिखाएगा। हम 360 भारतीय कैदियों को छोड़ेगा जिनमें 355 मछुआरे और पांच अन्य नागरिक हैं।’’

मोहम्मद फैसल

आपको बता दें कि, पाकिस्तान अक्सर भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार कर लेता हें क्योंकि अरब सागर में समुद्री सीमा का स्पष्ट सीमांकन नहीं है तथा मछुआरों के पास उनकी नौकाओं में सटीक अवस्थिति जानने के लिए उपयुक्त प्रौद्योगिकी नहीं होती है।

फिलहाल भारत के कब्जे में 347 पाकिस्तानी कैदी हैं और पाकिस्तान के कब्जे में 537 भारतीय कैदी हैं। ऐसे में पाकिस्तान 360 कैदियों को छोड़ भी देता है तो हमारे 177 नागरिक पाकिस्तान में बतौर कैदी जेल में रहेगें। और पाकिस्तान विश्व समुदाय के समक्ष यह दावा भी करेगा कि हमने भारत के 360 कैदियों को छोड़ा है, तो भारत को भी पाकिस्तान के साथ सद्भावना का व्यवहार जाताना चाहिए।