उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान |IANS
विदेश

भारत-पाकिस्तान तनाव के बीच कम हो रही है, पाक PM इमरान खान की संपत्ति   

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अयोग्य ठहराए जाने की मांग पर आज सुनवाई करेगा लाहौर उच्च न्यायालय। 

Uday Bulletin

Uday Bulletin

पूर्व क्रिकेटर इमरान खान जब से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बने हैं, उनकी मुसीबतें ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रही । कभी आतंकवाद, कभी परिवारिक तनाव तो अभी आर्थिक आधार पर वे हमेसा मुश्किलों से घिरे रहे हैं। पाकिस्तानी मीडिया के हवाले से खबर आई है कि बीते दो-तीन सालों में इमरान खान की संपत्ति को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है। इमरान खान की सम्पति 2015 में 35.6 मिलियन पाकिस्तानी रुपये थी जो पिछले तीन वर्षों (2017) में तेजी से घटकर केवल 4.7 मिलियन पाकिस्तानी रुपये हो गई है।

इसके साथ ही इमरान खान के बारे में एक और बुरी खबर सामने आ रही है। लाहौर उच्च न्यायालय ने शनिवार को कहा कि वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अयोग्य ठहराए जाने की मांग करने वाली याचिका पर आज यानि 11 मार्च को सुनवाई करेगा। याचिका में दावा किया गया है कि खान ने 2018 के चुनाव के लिए दाखिल नामांकन दस्तावेजों में अपनी पूर्व पत्नी की एक बेटी से अपना रिश्ता छिपाया था।

दरअसल, इमरान की पूर्व पत्नी अना लुइसा (सीता) व्हाइट की बेटी टिरियन व्हाइट हैं। कई बार इमरान पर यह आरोप लगता रहा है कि टिरियन इमरान की बेटी हैं, हालांकि उन्होंने इस दावे को खारिज कर दिया है।

“इमरान खान पर आरोप है कि उन्होंने प्रधानमंत्री पद नामांकन पत्रों में व्हाइट को अपने आश्रितों में शामिल नहीं किया और इस तरह उन्होंने संविधान के अनुच्छेद 62 और 63 का पालन नहीं किया है।”
डॉन मीडिया पाकिस्तान 

हालांकि इसी वर्ष 21 जनवरी को, इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने ऐसी ही एक याचिका को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि यह उनका निजी मामला है, इसलिए इस पर विचार नहीं किया जा सकता।

बहरहाल, भारत पाकिस्तान तनाव के बीच पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान दोनों देशों के बीच बढ़ रहे तनाव को कम करने की पूरी कोशिश में हैं और आतंकवाद पर कार्यवाई करने की बात कर रहे हैं। इमरान खान ने थारपारकर जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, राष्ट्रीय कार्ययोजना के तहत हम पाकिस्तान में किसी भी हथियारबंद समूह को अनुमति नहीं देंगे। कोई देश ऐसा नहीं करता है। पाकिस्तान की सभी पार्टियों ने यह फैसला लिया है। जब से हमारी सरकार सत्ता में आई है, हमने तय किया कि एनएपी को लागू करेंगे। इमरान खान ने कहा, पाकिस्तान की धरती को आतंकवाद के लिए इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा।