उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Masood Azhar’s photo in a protest
Masood Azhar’s photo in a protest |google
विदेश

हर बात पर एटम बम की धमकी देने वाले पाकिस्तान का ये है, असली चेहरा...!

पाकिस्तान का बस चले तो अपने सबसे शरीफ नागरिक “मसूद अजहर और हाफिज सईद” को शांति के सबसे बड़े पुरुस्कार नोबेल पीस प्राइज के लिए नोमिनेट भी कर दे |

Divyanshu Singh

Divyanshu Singh

आतंकवाद एक ऐसा शब्द जिससे दुनिया का हर देश ग्रस्त है या परिचित है , पर पड़ोसी पाकिस्तान को आतंकवाद से कोई फर्क नही पड़ता , पड़े भी क्यूँ ? क्यूंकि पूरी दुनिया जानती है की आतंकवाद को पनाह और बढ़ावा देने में पाकिस्तान को अव्वल दर्ज़ा प्राप्त है , या यूँ कहा जाये की पाकिस्तान आतंकियों के लिए किसी जन्नत से कम नही.. जहाँ वो आतंकी बनने से लेकर , हिंदुस्तान की तबाही के ख्वाब तक बुनते हैं |

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक
google

पाकिस्तान हमेशा खुद को आतंक ग्रसित देश बताता है, और हर बार किसी भी आतंकी को अपनी जमीन का इस्तेमाल करने की बात से सीधा इनकार करता है | मगर सच्चाई इससे कोसो दूर है और हकीकत यह की पाक की जमीन से आतंकी सिर्फ हिंदुस्तान ही नही आते, बल्कि वो अफगानिस्तान और ईरान को भी अस्थिर करने का काम करते हैं , और इस बात को पूरी दुनिया जानती है | पाकिस्तान विश्व समुदाय के सामने कितना भी शरीफ बनने की कोशिश करे पर ये सब जानते हैं की पाकिस्तान “ Pakistan Occupied Kashmir “ का इस्तेमाल आतंकी ट्रेनिंग कैंपो के लिए करता है और एक एक मोटी रकम उनको हिंदुस्तान में आतंक मचाने के लिए उपलब्ध कराता है |

पाकिस्तान प्रायोजित कुछ प्रमुख आतंकी संगठन जिनमें “जैश-ए-मुहम्मद , जमात-उद-दावा , हक्कानी नेटवर्क, लश्कर-ए-तैयबा विशुद्ध रूप से पाकिस्तान के पालने में पल रहे हैं और इनका मकसद सिर्फ एक है हिंदुस्तान के अभिन्न अंग या यूँ कह लें की पृथ्वी के जन्नत जम्मू एंड कश्मीर में कभी शांति नही होनी चाहिए और इसका सबूत आये दिन हिंदुस्तान के बॉर्डर पर हथियारों के साथ घुसपैठ करते हुए मारे जाते आतंकी हैं जिनके पास से बरामदगी के दौरान हर चीज़ पाकिस्तानी मिलाती है , चाहें वो पैकिंग का खाना हो , चाहें दवाइयां , चाहें हैण्ड ग्रेनेड, चाहें हथियार हो या कुछ धन हो वो भी पाकिस्तानी ही होता है |

आतंकी हाफिज सईद
आतंकी हाफिज सईद
google

हिंदुस्तान में हुए कुछ बहुत बड़े हमलों में से कई हमलों में सीधे तौर पर पाकिस्तानी आंतकी और वहां की ख़ुफ़िया एजेंसी का ही हाथ रहा है , मगर पाकिस्तान आदत से लाचार ठहरा जो हर बार अपना हाथ होने से इनकार करता है और हर बार सबूत मांगता है और सबूत देने पर भी कोई कार्यवाई नहीं करता , जिसका जीता जागता सबूत पाकिस्तान का सबसे शरीफ नागरिक “हाफिज सईद” है जो हिंदुस्तान में हुए 26/11 हमले का मास्टरमाइंड है और अमेरिका का 10 मिलियन डॉलर इनामी आतंकी खुला घूम रहा है और वहां के आम चुनाव में अपनी दावेदारी भी पेश कर चुका है |

प्रतीकात्मक
प्रतीकात्मक
google

झूठ तो पाकिस्तान के खून में ऐसा बसा है कि उसने हिंदुस्तान में हुए उरी आतंकवादी हमले के बाद PoK में हुयी SURGICAL STIKE को हिंदुस्तान का झूठ करार दिया और जब इसका सबूत वीडियो के रूप बाहर आया तो उसे हिन्दुस्तानी ज़मीन पर फिल्माया वीडियो कहा |

मगर 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में CRPF पर हुए आत्मघाती आतंकी हमले में 44 जवानों की जान चली गयी और वो शहीद हुए उसके बाद से देश में गुस्से का माहौल था और ये बात कहीं ना कहीं पाकिस्तान भी जानता था की इस बार बहुत बड़ी गलती हुयी है, जिसकी सजा मिलनी तय है | इसलिए पाकिस्तान के नाम के प्रधानमंत्री इमरान खान( ये तो सब जानते है की पाकिस्तान में सेना शासन करती है ) ने कहा कि हिंदुस्तान की तरफ से होने वाले हमले का माकूल जवाब दिया जायेगा | और भारतीय वायु सेना ने पुलवामा हमले और अपने 44 शहीद जवानों का बदला 26 फरवरी की तड़के सुबह 3:30 में PoK स्थित बालाकोट में जैश के कैंप को निशाना बनाते हुए 200 -300 के लगभग आतंकी को जहन्नुम की शैर पर भेज दिया, और मीडिया में सिर्फ यही खबर ही चल रही है | अब पाकिस्तान हर बार की भांति इस बार भी इस AIR STRIKE को भारत का झूठ करार देगा , पाकिस्तान के पास और कोई चारा भी नही है |