उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
ऑटोमोबाइल 
ऑटोमोबाइल |source: google image
विदेश

अब और आसान होगा विदेश से कार और बाइक्स मँगाना ! 

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की नीति में बदलाव 

Sneha Sinha

Sneha Sinha

विदेश से विदेशी प्रोडक्ट्स को भारत में आयात करवाना एक बहुत ही गहम और कठिनाई भरा काम होता था और इसी बात को मद्देनज़र रखते हुए सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अपनी नवीनतम नीति में विदेशी कारों और मोटरसाइकिलों के आयात के लिए रोडब्लॉक को हटाने का सोचा है।

महत्वपूर्ण जानकारी -

जैसा की टाइम्स ऑफ़ इंडिया के रिपोर्ट से सामने आया है की ऑटोमोबाइल निर्माताओं या उनके प्रतिनिधि अब सीमित मात्रा में वैश्विक मॉडल को भारत में आयात कर पायेँगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रत्येक निर्माता को वार्षिक रूप से विदेशी निर्मित कारों या दोपहिया वाहनों की 2,500 इकाइयों को आयात करने की अनुमति दी जाएगी, जो पहले से ही अंतरराष्ट्रीय नियमों का अनुपालन करते हैं आसानी से आयात कर सकते हैं। ट्रक और बसों जैसे भारी वाणिज्यिक वाहनों के मामले में, ऑटोमोटर्स को सालाना केवल 500 इकाइयों का आयात करने की अनुमति होगी।

निति की सीमाएँ -

विदेशी वाहनों को आयात करने के मुद्दे पर आने वाला मौजूदा मापदंड काफी सख्त है, जैसे कि निर्माताओं को रिसर्च एंड डेवलपमेंट और परीक्षण उद्देश्यों के लिए वाहन आयात कराने की इजाजत नहीं है। वर्तमान में, ऑटोमोबाइल निर्माताओं या उनके प्रतिनिधियों को केवल मौजूदा विनिमय दरों के अनुसार 40,000 डॉलर से अधिक की कीमतों के फ्री आयात की सिर्फ 28.7 लाख तक की अनुमति है। जैसा की आप जानते है वैश्विक मॉडल को सभी क्षेत्रों में लेन -देन के लिए यह बदलाव आ रहा है लेकिन अभी मंत्रालय ने कोई पक्की घोषणा नहीं की है और लोगो को इस मापदंड का बहुत ही बेसब्री से इंतजार है।