मोदी कैबिनेट 2.0 : आखिर अमित शाह को ही क्यों बनाया गृह मंत्री 

इस बार नई मोदी सरकार में अमित शाह गृहमंत्री बनाए गए हैं, गुरुवार शाम कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। इस दौरान वे पहली बार चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं।
मोदी कैबिनेट 2.0 : आखिर अमित शाह को ही क्यों बनाया गृह मंत्री 
अमित शाह गृहमंत्रालय Google

30 मई की शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में मोदी सरकार 2 का शपथ ग्रहण (Oath Ceremony) समारोह संपन्न हुआ, इस दौरान नई कैबिनेट को लेकर भी जबरदस्त सस्पेंस बना हुआ था। शपथ ग्रहण समारोह तक ये नहीं समझ आ रहा था कि आखिर किसे कौन-सी जिम्मेदारी मिलने वाली है। वहीं कुछ नाम ऐसे थें जिनपर लोगों की नजरें विशेषरूप से बनी थी। जिसमें से अमित शाह (Amit Shah) का नाम सबसे उपर था, जी हां ऐसा इसलिए भी क्योंकि भाजपा की इस जीत का श्रेय आधे से ज्यादा इन्हें ही जाता है।

अमित शाह गृहमंत्रालय 
अमित शाह गृहमंत्रालय Google

अब खबरें ये भी थीं कि इनको कैबिनेट में किसी पद की कुर्सी मिलेगी या फिर ये पार्टी के अध्यक्ष के रूप में ही बने रहेंगे। इस बात पर तब तक अटकलें बनी रही जब तक पीएम मोदी ने अपना कार्यकाल नहीं शुरू किया। कुछ लोगों का मानना था कि अगर अमित शाह (Amit Shah) को रक्षा मंत्रालय मिल जाता है तो वो पाकिस्तान का सफाया कर देंगे।

अमित शाह गृहमंत्रालय 
मोदी कैबिनेट में हुई अमित शाह की एंट्री, ये होंगे अगले बीजेपी अध्यक्ष ?

बीते दिन यानि की 31 मई से मोदी सरकार का ये नया कार्यकाल शुरू हो गया सभी मंत्रियों के अपने अपने विभाग सौंपे गए और इस दौरान पता चला कि अमित शाह (Amit Shah) को गृहमंत्री का प्रभार सौंपा गया। अब इसके बाद से ही राजनीति जगत में हलचल मच गई, सबसे बड़ा सवाल ये था कि आखिर अमित शाह (Amit Shah) को गृह मंत्रालय क्यों सौंपा गया ?

सबसे पहले तो ये जान लें कि इस पद के मिलने से अमित शाह के सामने कई सारी नई चुनौतियों का अंबार आ गया है और ये भी हर कोई जानता है कि चाहे चुनौतियां कैसी भी हो अमित शाह (Amit Shah) को उससे निपटना बेहद अच्छे से आता है। तभी तो मोदी और अमित शाह की जोड़ी हमेशा ही छाई रहती है। अगर बात करें चुनौतियों की तो सबसे पहले नक्‍सली समस्‍या जो कि बेहद तेजी से बढ़ रही है उससे निपटने का भरसक प्रयास किया जाएगा। आर्टिकल 370, आतंकवादी गतिविधियों के अलावा अन्य कई मुद्दे हैं।

अमित शाह गृहमंत्रालय 
अमित शाह गृहमंत्रालय Google

इसके अलावा शाह को ये पद मिलने का कारण ये भी है कि प्रधानमंत्री पद के बाद सबसे अहम पद अमित शाह को मिलना ये साफ-साफ जाहिर करता है कि अगर कार्यालय में मोदी के बाद कोई ताकतवर होगा तो वो है अमित शाह। इसके पहले सरकार में ये पद राजनाथ सिंह को दिया गया था, लेकिन इस नई सरकार में उनको रक्षा मंत्रालय का भार सौंपा गया।

भाजपा के अध्यक्ष पद पर आसीन रह चुके अमित शाह हमेशा से ही अपनी बुद्धि व तेज तर्रार छवि के कारण जाने जाते हैं, और एक कुशल राजनीतिज्ञ भी हैं। इसके पहले भी वो गुजरात में गृह मंत्री के रूप में काम कर चुके हैं और इस लिहाज से गृह मंत्रालय का पद संभालना उनके लिए कोई मुश्किल काम नहीं होना चाहिए।

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com