अमेठी में कपडे और मिठाई बांट रही स्मृति ईरानी ने कहां कांग्रेस सेनापतिविहीन

जो राहुल गांधी जेएनयू में राष्ट्रविरोधी नारे लगाने वालों का समर्थन करते हैं वो छत्तीसगढ़ में लोकतंत्र की रक्षा कहां से करेंगे।
अमेठी में कपडे और मिठाई बांट रही स्मृति ईरानी ने कहां कांग्रेस सेनापतिविहीन
स्मृति ईरानीIANS

कवर्धा (छत्तीसगढ़) । केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने यहां सोमवार को एक चुनावी रैली में लोगों से कहा कि 'आपका सेनापति ठाठापुर में जन्मा डॉ. रमन सिंह है, जबकि कांग्रेस सेनापतिविहीन है।'

भाजपा प्रत्याशी मोतीराम चंद्रवंशी के प्रचार के लिए पंडरिया पहुंचीं स्मृति ने कहा, "यहां की मिट्टी में कुछ खास है। यहां की सरलता मुख्यमंत्रीजी में भी झलकती है। कुछ लोग समझते हैं कि राजनीति सत्ता का अखाड़ा है।"

उन्होंने कहा, "जनता से 5 साल का रिश्ता है। मैदाने जंग में जब सेना उतरती है तो सेनापति साथ होता है। आपका सेनापति ठाठापुर में जन्मा डॉ. रमन सिंह है, जबकि कांग्रेस सेनापतिविहीन है। कांग्रेस कहती है कि वादों पर विश्वास करो, पर उसके पास विश्वास देने लायक सेनापति ही नहीं है। कांग्रेस सपना दिखाती है बदले हुए कल का, पर भाजपा ने जो किया है वो बताने को हमारा एक-एक कार्यकर्ता तैयार है।"

स्मृति ने कहा, "नेहरू ने हमें सपना दिखाते हुए कहा था कि अमेठी में ट्रेन आएगी। इंदिरा गांधी राजीव ने भी यही कहा, राहुल ने भी यही कहा। जो विकास का वादा तीन पीढ़ियों से किया, वो हुआ नहीं। राहुल को मानना पड़ेगा, उनके संसदीय क्षेत्र में पासपोर्ट ऑफिस और कलेक्टर कार्यालय भाजपा के शासन में बना, जो अपने क्षेत्र का विकास नहीं कर पाया वो छत्तीसगढ़ का क्या विकास करेगा।"

नक्सली हमेशा सत्ता से लड़ते रहे हैं, लेकिन पांच साल पहले नक्सलियों ने झीरम घाटी में विपक्षी कांग्रेस के काफिले पर हमला कर पूर्व केंद्रीय मंत्री विद्याचरण शुक्ल सहित 20 से ज्यादा बड़े नेताओं की जान ले ली थी। इस पर सवाल उठा था। चर्चा चली थी कि कांग्रेस को खत्म करने के लिए सत्ता के इशारे पर नक्सलियों ने बड़ी साजिश रचकर कांग्रेस के काफिले को निशाना बनाया। सच जो भी हो, आखिर इतना बड़ा नुकसान झेलने वाली कांग्रेस नक्सलियों की हिमायती कैसे हो सकती है? राज बब्बर ने नक्सलियों को 'भटके हुए क्रांतिकारी' कहा था, लेकिन 'भटके हुए' शब्द को गायब कर भाजपा ने इस बयान को अपना हथियार बना लिया है।

प्रधानमंत्री की बात को दोहराते हुए स्मृति ईरानी ने कहा, "वो कांग्रेस के नेता जो राहुल के संरक्षण में कहते हैं कि नक्सली क्रांतिकारी हैं और राहुल कुछ नहीं कहते। जो राहुल गांधी जेएनयू में राष्ट्रविरोधी नारे लगाने वालों का समर्थन करते हैं वो छत्तीसगढ़ में लोकतंत्र की रक्षा कहां से करेंगे।"

--आईएएनएस

⚡️ उदय बुलेटिन को गूगल न्यूज़, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। आपको यह न्यूज़ कैसी लगी कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें।

No stories found.
उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com