उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह|Google
इलेक्शन बुलेटिन

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018: भाजपा ने पॉलिटिक्स ऑफ़ परफॉरमेंस और प्रदेश के सुनहरे भविष्य का साथ दिया -अमित शाह 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस पर चुनाव प्रचार के दौरान जाति और धर्म की राजनीति को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

जयपुर: राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 (Rajasthan Assembly Election 2018) के प्रचार के आखिरी दिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अजमेर में रोड शो किया और जयपुर में प्रेस कॉन्फ्रैंस किया जिसमें उन्होंने कांग्रेस पर लगातार निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने राजस्थान सहित देश के बड़े मुद्दों पर सवालों के जवाब दिए। यूपी के बुलंदशहर हिंसा पर किए गए सवाल पर उन्होंने कहा, 'यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। सीएम योगी ने इसकी जांच के लिए SIT का गठन कर दिया है। अधिकारी इसकी जांच कर रहे हैं। इसे राजनीतिक रंग देना मेरे हिसाब से उचित नहीं है, जो कि कांग्रेस ऐसा कर रही है। SIT की रिपोर्ट में दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा।'

राजस्थान में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने का विश्वास जाहिर करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को कांग्रेस पर चुनाव प्रचार के दौरान जाति और धर्म की राजनीति को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया।

राज्य में विधानसभा चुनाव के प्रचार के अंतिम दिन यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत करते हुए शाह ने कहा, ‘‘हम एक रचनात्मक, एक सकारात्मक एजेंडे को पूरे चुनाव में लेकर गए हैं और मुझे पूरा भरोसा है कि हम राजस्थान में निश्चित रूप से पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने अपने परंपरागत तीन मुद्दों पर चुनाव लड़ने का प्रयास किया। जातिवाद के मुद्दों को उभारने का प्रयास किया, परिवारवाद के आधार पर चुनाव लड़ने का प्रयास किया और तुष्टिकरण की नीति को भी आगे बढ़ाने का प्रयास किया। वहीं हमने राजस्थान का भविष्य, राजस्थान का विकास और गरीबों का कल्याण .... इन तीन मुद्दों पर विकास को आगे ले जाने का प्रयास किया है। मुझे लगता है कि हमारे मुद्दों को उसी जनता ने स्वीकारा है जो कांग्रेस के तीनों मुद्दों को नकार चुकी है।’’

शाह ने कहा, हमने पूरे प्रचार में "विकास की राजनीति" को मुख्य मुद्दा बनाया है और उसको एक अच्छा जनप्रतिसाद लोगों की ओर से मिला है। कांग्रेस की स्थिति नेता तय कर पाने तक भी नहीं पहुंची है। हर जिले में एक-एक व्यक्ति अपने आप को मुख्यमंत्री बताकर जनता के वोट बटोरने का काम कर रहा है। लेकिन जनता जानती है कि कांग्रेस में न नेता है, न नीति है न सिद्धांत है। कांग्रेस ने यहां जाति व धर्म की राजनीति को भी आगे बढाया।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बताया कि राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के (Rajasthan Assembly Election 2018) चुनाव प्रचार में भाजपा ने राज्य में 222 बड़ी जनसभाएं कीं जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 13 सभाएं शामिल हैं।