उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 जम्मू एवं कश्मीर में शांतिपूर्ण रहा  नगरपालिका चुनाव
जम्मू एवं कश्मीर में शांतिपूर्ण रहा  नगरपालिका चुनाव|IANS
इलेक्शन बुलेटिन

जम्मू एवं कश्मीर में शांतिपूर्ण रहा निकाय चुनाव 

श्रीनगर में पत्थरबाजी की घटना को छोड़कर 13 साल के अंतराल के बाद जम्मू एवं कश्मीर में सोमवार को नगरपालिका चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हुए।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

जम्मू/श्रीनगर: श्रीनगर में पत्थरबाजी की घटना को छोड़कर 13 साल के अंतराल के बाद जम्मू एवं कश्मीर में सोमवार को नगरपालिका चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हुए। जम्मू के राजौरी में जहां सर्वाधिक मतदान हुआ, वहीं कश्मीर घाटी के बांदीपोरा में सबसे कम मतदान हुआ। कड़ी सुरक्षा के बीच जम्मू में सुबह सात बजे से मतदान शुरू हुआ। एक अधिकारी ने बताया कि राजौरी जिले में करीब 60 प्रतिशत और पुंछ में 52 प्रतिशत मतदान हुआ। जम्मू जिले में लगभग सभी नगर निगम और वार्डो में उत्साही मतदाताओं की लंबी कतारें देखी गईं।

आईएएनएस द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार, गांधीनगर, आर.एस. पुरा, बिश्नाह, अरनिया, खौर, जुरियां, अखनूर, नौशेरा, सुरनकोट, कलाकोट और अन्य वाडरे में मतदान शांतिपूर्वक हुआ।

लेकिन, कश्मीर में तस्वीर बिल्कुल उलट रही, जहां अलगाववादियों के बंद के आह्वान के बीच अधिकांश मतदाता मतदान केंद्र से दूर रहे।

अधिकारी ने कहा कि घाटी में सबसे ज्यादा कुपवाड़ा में 29 प्रतिशत मतदान हुआ जबकि श्रीनगर के तीन वार्डो सहित अन्य जगहों पर 10 प्रतिशत से भी कम वोट पड़े।

घाटी के हंदवाड़ा में 21 प्रतिशत, बांदीपोरा में 2.96 प्रतिशत, बड़गाम में चार प्रतिशत और बारामूला व अनंतनाग में छह प्रतिशत वोट पड़े। श्रीनगर में अपरान्ह 1.30 बजे तक महज चार प्रतिशत मतदान हुआ था।

श्रीनगर के बाग-ए-मेहताब में कुछ युवकों की सुरक्षबलों के साथ झड़प हुई, लेकिन अधिकारियों ने बताया कि हालात पर तुरंत काबू पा लिया गया।

राज्य में आतंकवाद से संबंधित कोई घटना नहीं हुई। दक्षिण कश्मीर के सभी जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं।

राज्य में निकाय चुनाव का पहला चरण दो प्रमुख दलों नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के बहिष्कार के बीच हुआ। लद्दाख क्षेत्र में हाड़ कंपा देने वाली ठंड के चलते शुरू में कम मतदाता ही घरों से बाहर निकले, लेकिन बाद में थोड़ा सुधार हुआ और कारगिल और लेह में मतदान ने रफ्तार पकड़ी।

बांदीपोरा जिले के अलूसा के एक मतदान केंद्र में एक महिला को मतदाता के साथ वोटिंग काउंटर तक जाने की अनुमति देने पर एक चुनाव अधिकारी को निलंबित कर दिया गया। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि घाटी में कहीं भी कोई प्रतिबंध नहीं लगाया गया है।

चुनाव राज्य के 1,145 म्यूनिसिपल वाडोर्ं में से 422 के हुए। चार चरणों में होने वाले निकाय चुनाव के लिए 1,204 उम्मीदवार मैदान में हैं, जो 16 अक्टूबर को संपन्न होंगे। मतगणना 20 अक्टूबर को होगी।