उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Haryana Chief Minister Manohar Lal Khattar
Haryana Chief Minister Manohar Lal Khattar|IANS
इलेक्शन बुलेटिन

हरियाणा में ध्वस्त हुआ भाजपा का जीत फैक्टर, कांग्रेस के वादों ने भाजपा की बखिया उधेड़ी 

कांग्रेस ने हरियाणा चुनाव में वादों का पिटारा खोला था, फिर भी बहुमत से दूर, जनता ने नहीं किया भरोसा।

Shivjeet Tiwari

Shivjeet Tiwari

Summary

राजनीति संभावनाओं और वायदों का खेल है, जब जिसने जितना मजबूत वायदा मौके पर कर दिया वोटर उसी को सिंघासन तक पहुँचाने का रास्ता बना देते है, हालाँकि सरकार बनाना अभी भी दोनो पार्टियों के लिए टेढ़ी खीर है, लेकिन इसका ज्यादा लाभ भाजपा को ही मिलने वाला है।

दो राज्यों में विधानसभा चुनाव की मतगणना पूरी हो गयी, सभी प्रत्याशियों की किस्मत जो ईवीएम में कैद थी उनको जनता और प्रत्याशियों के सामने खोलकर रखा गया, और नतीजन जो नेता अपने आपको दिग्गज मानने का गुरुर पाल बैठे थे उनको जनता ने जमीन की मिट्टी का स्वाद चखा दिया,

हालकि महाराष्ट्र में भाजपा अपने सहयोगी शिवसेना के साथ मिलकर सरकार की प्रबल दावेदार हो चुकी है, और कांग्रेस के लिए महाराष्ट्र में सत्ता की कुर्सी बेहद दूर की चीज साबित हुई है लेकिन हरियाणा में कांग्रेस के पंजे ने भाजपा के कमल की ज्यादातर पंखुड़ियों को नोच डाला, यहाँ भले ही भाजपा अपने आप को ज्यादा सीटें जितने वाला दल बताये लेकिन फिर भी असलियत तो यही है कि स्थानीय सरकार जनता के बीच अच्छा संवाद स्थापित नही कर पाई।

कांग्रेस के तगड़े वायदे:

कांग्रेस यह जानती थी कि महाराष्ट्र उसके लिए किसी दुर्ग के जीतने से कम नही होगा, शायद इसीलिए कांग्रेस ने अपने वायदों का पिटारा सबसे ज्यादा हरियाणा में खोला, वायदों की हल्की झलक कुछ इस प्रकार है-:

महिला वर्ग के किये वायदे:

  • पंचायती राज्य की संस्थाओं में महिलाओं के लिए पचास फीसदी आरक्षण, शहरी निकायों में भी महिलाओ के लिए 50 फीसदी आरक्षण
  • महिलाओं के लिए हरियाणा रोजवेज मुफ्त, महिलाओं के लिए अलग से बस की भी व्यवस्था।
  • महिला को गर्भ धारण के समय से ही शिशु के जन्म तक 3500 रुपये प्रतिमाह का प्रावधान, इसके बाद पांच साल तक 5000 रुपये सालाना।
  • बीपीएल महिलाओ के गैस/चूल्हे खर्च के लिए 2000 रुपये प्रतिमाह।

एससी एसटी और अन्य :

  • सबसे पहले एससी वर्ग के छात्रों को छात्रवृत्ति उपलब्ध कराई जाएगी, इस वर्ग के मेधावी छात्रों को पहली कक्षा से 12 तक के विद्यार्थियों को 12 हजार रुपये सालाना।
  • 11वीं और 11वीं के मेधावियों को सालाना 15000 रुपये मिलेंगे।
  • एससी क्रीमी लेयर सीमा को 6 लाख से बढ़ाकर 8 लाख तक रखा जाएगा।
  • एससी कमीशन का दोबारा गठन किया जाएगा ।

कर्मचारी और विद्यार्थी के लिए वायदे:

  • राज्य कर्मचारियों के लिए पुरानी "ओल्ड पेंशन स्कीम" बहाल की जाएगी।
  • स्नातक बेरोजगार को सात हजार और परास्नातक को दस हजार रुपये भत्ता दिया जाएगा।
  • हरियाणा के युवकों को निजी क्षेत्र की नौकरियों में भी 76 फीसदी आरक्षण मिलेगा।
  • शिक्षक भर्ती की विशेष प्रक्रिया होगी, जिससे बेरोजगार युवक और युवतियां इसके बारे में जान सके।
  • जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग का लाभ दिलाया जाएगा।
  • हर जिले में विश्वविद्यालय और मेडिकल कालेज की स्थापना होगी।

किसान और मजदूर :

  • भूमिहीन किसानों के कर्जे पर भी राहत उपलब्ध कराई जाएगी।
  • प्राकृतिक फसल नुकसान पर 12 हजार रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से राहत राशि निर्गत की जाएगी, फसल बीमा का प्रीमियम सरकार वहन करेगी, किसान को उच्चतम एमएसपी दिलाया जाएगा।
  • मजदूरों की निर्धारित न्यूनतम मजदूरी में इजाफा होगा, किसान मंडी शुल्क 2 फीसदी से हटाकर मात्र 1 फीसदी रखा जाएगा।

स्वास्थ्य :

हर गांव और मजरे तक एम्बूलेंसों की पहुँच होगी।

ब्लाक स्तर पर नशा मुक्ति केंद्र स्थापित होंगे ,जिंनमे निशुल्क उपचार और काउंसलिंग होगी।

अन्य वायदे :

  • 300 यूनिट से ज्यादा बिजली खर्च करने पर आधा बिल चुकाना होगा।
  • नए मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन किया जाएगा।
  • खिलाड़ियों के लिए नई प्रोत्साहन नीति लागू होगी।
  • दिव्यांगों के लिए मानदेय निर्धारित होगा।
  • गरीबो के लिए अम्मा थाली की तर्ज पर इंदिरा थाली जो मात्र 10 रुपये में उपलब्ध होगी, बुजुर्ग रोडवेज में फ्री यात्रा कर सकेंगे, सरकारी राशन 2 रुपये प्रति किलो के हिसाब से चावल और गेहूं के रूप में उपलब्ध होगा, पंचायत और निकाय के प्रतिनिधियों को मानदेय दिया जाएगा, प्रदेश में घोटालों के निवारण के लिए एसआईटी का गठन होगा।
  • मॉब लिंचिंग के लिए कड़ा कानून बनाकर पेश किया जाएगा, और इस तरह की घटनाओं पर बेहद सख्ती रहेगी, प्रदेश को अपराध मुक्त बनाया जाएगा, इंस्पेक्टर राज का खात्मा होगा, हर व्यक्ति के हाँथ में स्वास्थ्य कार्ड होगा, गरीबों का निशुल्क इलाज कराया जायेगा।
  • नशे के कारोबार से जुड़े अपराधियों की धरपकड़ होगी।
  • हर सरकारी संस्था को फ्री वाई-फाई जोन बनाया जाएगा।

हालांकि कांग्रेस ने जो वायदे किये है उनपर कितना कायम रहती है वो तो सरकार बनाने के बाद ही पता चलेगा अभी तो फ़िलहाल दोनो पार्टियां अपना संख्यात्मक समीकरण बनाने में जुटे हुई है, देखते है सत्ता में कौन काबिज होता है।